जम्मू: जम्मू-कश्मीर के ऊधमपुर जिले में बारिश संबंधी घटनाओं में एक बच्चे की मौत हो गई जबकि भूस्खलन के बाद श्रीनगर-जम्मू राष्ट्रीय राजमार्ग पर वाहनों की आवाजाही बंद कर दी गई. अधिकारियों ने यह जानकारी देते हुए बताया कि किसी भी अप्रिय घटना से बचने के लिए अमरनाथ यात्रा भी एहतियाती तौर पर रोक दी गई है.

 

ऊधमपुर जिले में भारी बारिश के कारण दो घरों के ढहने से आठ वर्षीय एक बच्चे की मौत हो गई और 13 वर्षीय एक बच्ची घायल हो गई. ऊधमपुर और लौंदना इलाके में मंगलवार रात हुए हादसे में पवन कुमार की मौत हो गई और सुनीता गंभीर रूप से घायल हो गई. उसे तुरंत अस्पताल ले जाया गया, जहां उसकी हालत नाजुक बताई जा रही है. रुक-रुककर बारिश से जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग के निकट बल्ली नाला के मोरह पस्सी में भूस्खलन होने से कश्मीर को देश के बाकी से जोड़ने वाला एकमात्र राजमार्ग भी बंद हो गया. अधिकारी ने कहा कि भारी बारिश 270 किमी लंबे राजमार्ग से मलबा हटाने का काम बाधित हो रहा है. अधिकारी ने बताया कि राजमार्ग बंद होने से अमरनाथ यात्रा दिन के लिए रोक दी गई. राज्य मौसम विभाग की निदेशक सोनम लोटस ने बताया कि ऊधमपुर जिले में मंगलवार शाम आठ बजे तक रिकॉर्ड 342 मिमी बारिश दर्ज की गई.

 

अमरनाथ यात्रा चार अगस्त तक निलंबित
श्री अमरनाथ श्राइन बोर्ड (एसएएसबी) ने बुधवार को बताया कि जम्मू कश्मीर में अगले कुछ दिनों में भारी बारिश के अनुमान के कारण अमरनाथ यात्रा चार अगस्त तक निलंबित रहेगी. एसएएसबी के एक प्रवक्ता ने बताया कि खराब मौसम, पत्थरों के गिरने और भूस्खलन के मद्देनजर खासतौर से जम्मू क्षेत्र में यात्रा चार अगस्त 2019 तक निलंबित रहेगी. उन्होंने बताया कि भारतीय मौसम विभाग ने जम्मू कश्मीर में अगले कुछ दिनों तक भारी बारिश का अनुमान जताया है जिससे जम्मू और श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग खासतौर से रामबन और बनिहाल के बीच भूस्खलन हो सकता है और पत्थर गिर सकते हैं. प्रवक्ता ने बताया कि हाल ही में भारी बारिश के कारण बालटाल से पहलगाम तक का रास्ता फिसलन भरा हो गया है तथा आने वाले दिनों में स्थिति और बिगड़ सकती है. अधिकारियों ने बताया कि किसी भी अप्रिय घटना से बचने के लिए एहतियाती कदम के तौर पर बुधवार को यात्रा निलंबित कर दी गई.