Sharad Yadav: बिहार के कद्दावर नेता और लोकजनतांत्रिक जनता दल के अध्यक्ष शरद यादव की स्थिति नाजुक बतायी जा रही है. मालूम हो कि 21 सितंबर को उनकी सांस लेने की समस्या आने पर उन्हें दिल्ली के गंगाराम अस्पताल में भर्ती कराया गया है. मिल रही खबरों के मुताबिक शरद यादव की गंभीर स्थिति को देखते हुए उन्हें वेंटिलेटर पर रखा गया है. डॉक्टरों की टीम उनके स्वास्थ्य की जांच में जुटी हुई है. मंगलवार सुबह तक 75 वर्षीय शरद यादव की हालत नाजुक बनी हुई है.Also Read - Tej Pratap Yadav Hair Style: लालू के लाल तेजप्रताप ने बताया अपने सॉफ्ट एंड सिल्की हेयर का राज, जानिए क्या कहा...

बिहार विधानसभा चुनाव के दौरान पूर्व केंद्रीय मंत्री शरद यादव की हालत नाजुक होने से उनके समर्थक काफी निराश हैं और भगवान से दुआ कर रहे हैं कि वे जल्द-से-जल्द स्वस्थ्य हो जाएं. Also Read - 82 Teeth: बिहार में अजब-गजब मामला, Nitish Kumar के जबड़े से निकाले गए 82 दांत

लोकतांत्रिक जनता दल (लोजद) ने रविवार को ही कहा था कि इसके संस्थापक शरद यादव बिहार में विपक्षी गठबंधन को सत्ता में लाने के लिये काम करेंगे. पार्टी ने बिहार के मुख्यमंत्री एवं जनता दल (यूनाइटेड) प्रमुख नीतीश कुमार से उनके हाथ मिलाने के बारे में अटकलों को ‘अफवाह’ बताते हुए खारिज कर दिया और इसे पूरी तरह से झूठा एवं बेबुनियाद बताया था. Also Read - Bihar Panchayat Chunav Updates: क्या 2 से ज्यादा बच्चों वाले नहीं लड़ पाएंगे पंचायत चुनाव? जानें पंचायती राज मंत्री ने क्या कहा..

बता दें कि शरद यादव की तबीयत पिछले महीने से ही खराब चल रही है. दो सितंबर को शरद यादव को सांस लेने की समस्या हुई थी जिसके बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया था. इसके बाद उनकी हालत ठीक हो गई थी. दहालत बिगड़ने पर दोबारा 21 सितंबर को फिर उन्हें दिल्ली के गंगा राम अस्पताल में भर्ती कराया गया था.

उसके बाद उनकी बेटी सुभाषिनी राज राव उर्फ सुभाषिनी बुंदेला ने 24 सितंबर को पत्र जारी कर पिता की सेहत खराब होने की सूचना दी थी. साथ ही उन्होंने पत्र में ये भी लिखा था कि उनकी सेहत में सुधार देखने को मिल रहा है. उसके बाद फिर तबियत खराब होने पर उन्हें गंगाराम अस्पताल में भर्ती कराया गया है.