नई दिल्ली: दिल्ली के जयपुर गोल्डन हॉस्पिटल में ऑक्सीजन की कमी से 25 कोरोना मरीजों की मौत हो गई. इसके साथ ही अन्य अस्पताल में भी मरीज दम तोड़ रहे हैं. कई मरीजों ने ऑक्सीजन की कमी से हाथ खड़े कर दिए हैं. दिल्ली हाईकोर्ट में इस मामले की सुनवाई हो चुकी है. सुप्रीम कोर्ट में मामला है, इसके बाद भी हालात सुधारते हुए नहीं दिख रहे हैं.Also Read - Delhi Coronavirus Update: दिल्ली में कोरोना में बड़ी भारी गिरावट, एक की मौत

डॉक्टर्स भी मरीजों को तड़प-तड़प कर मरते हुए देख रहे हैं और कुछ नहीं कर पा रहे हैं. ऐसा ही बत्रा हॉस्पिटल में भी हो रहा है. ऑक्सीजन की कमी को लेकर बत्रा हॉस्पिटल के एमडी डॉ. एससीएल गुप्ता ने चुप्पी तोड़ी. और वह मरीजों के दम तोड़ने और बिगड़े हालात बताते बताते भावुक हो गए. उनकी आँखों से आंसू आने लगे. Also Read - Corbevax Vaccine: 840 रुपए की कॉर्बेवैक्स वैक्सीन की कीमत घटाई गई, अब 250 रुपए प्रति खुराक मिलेगी

Also Read - Corona Virus: कोलकाता के आईआईएम-सी में फैला कोरोना, 28 छात्र हुए संक्रमित, हड़कंप

डॉ. एससीएल गुप्ता बताते हैं कि हमारे पास ऑक्सीजन नहीं है. सप्लाई नहीं आ रही है. अब हम लोगों से अनुरोध कर रहे हैं कि अपने मरीजों को वहाँ लेकर जाएं जहां ऑक्सीजन उपलब्ध हो. हमारे पास ऑक्सीजन नहीं है. किसी की माँ, किसी की बहन, किसी के पिता और भाई की मौत हो रही है. कोई न कोई अपने करीबियों को खो रहा है. ऐसा होता है तो हमें बहुत बुरा महसूस होता है. ये बताते बताते डॉ. एससीएल गुप्ता भावुक हो जाते हैं.

बता दें कि दिल्ली में हालात बेहद बुरे हैं. कोरोना वायरस दिल्ली में बुरी तरह से फ़ैल चुका है. यहाँ ऑक्सीजन की कमी से भी मरीजों की मौतें हो रही हैं.