कांचीपुरम (तमिलनाडु) : कांची मठ के 69वें प्रमुख शंकराचार्य जयेंद्र सरस्वती के निधन के बाद उनके कनिष्ठ श्री विजयेंद्र सरस्वती ने पीठाधपति का कार्यभार संभाल लिया है. मठ ने एक बयान में कहा कि 28 फरवरी को 69वें शंकराचार्य जयेंद्र सरस्वती के निधन के बाद श्री शंकर विजयेंद्र सरस्वती स्वामी ने श्री कांची कामकोटि पीठ के पीठाधिपति के रूप में काम शुरू कर दिया है.

मठ के एक अधिकारी ने बताया कि विजयेंद्र सरस्वती के कार्यभार संभालने के बारे में तमिलनाडु सरकार के हिंदू धार्मिक और धर्मार्थ विभाग को अवगत करा दिया गया है. 48-वर्षीय विजयेंद्र सरस्वती 29 मई 1983 को कांची कामकोटि पीठ के 70वें आचार्य बने थे. बता दें कि कांची कामकोटि पीठ के 69वें शंकराचार्य स्वामी जयेंद्र सरस्वती का 28 फरवरी को सुबह निधन हो गया.

स्वामी जयेंद्र सरस्वती का जन्म 18 जुलाई 1935 को हुआ था. जन्म के समय उनका नाम सुब्रमण्यम महादेव अय्यर था. उन्हें 22 मार्च 1954 को कांची कामकोटि पीठ के शंकराचार्य स्वामी चंद्रशेखरन सरस्वती स्वामीगल ने अपना उत्तराधिकारी घोषित किया था. उन्होंने वर्ष 1983 में शंकर विजयेंद्र सरस्वती को अपना उत्तराधिकारी घोषित कर दिया था.  (एजेंसी – इनपुट)