नई दिल्ली: कुख्यात अपराधी विकास दुबे की उज्जैन में गिरफ्तारी के बाद कांग्रेस ने योगी सरकार पर दांव चला है. पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने पूरे मामले की सीबीआई जांच की मांग की. प्रियंका ने कहा कि अपराधी और ऊंचे ओहदों पर बैठे लोगों के बीच सांठगांठ की बात उजागर हो चुकी है, ऐसे में सीबीआई द्वारा जांच बेहद जरूरी है. Also Read - सुशांत मामले में सामने आया संजय राउत का बयान, अभिनेता का अपने परिवार से नहीं था अच्छा संबंध

प्रियंका ने कहा, “कानपुर में जघन्य हत्याओं के बाद उत्तर प्रदेश सरकार को जितनी तत्परता दिखानी चाहिए, नहीं दिखाई. इससे साबित होता है कि सरकार पूरी तरह विफल है.” उन्होंने कहा, “अलर्ट के बावजूद वह उज्जैन पहुंच गया. यह सुरक्षा तंत्र की शिथिलता को दर्शाता है और यह भी कि अनदेखी की गई.” Also Read - विकास दुबे के गांव में दबिश देने से पहले का पुलिस का ऑडियो अब हुआ वायरल, पूर्व SSP की बढ़ेगी मुसीबत

प्रियंका ने आगे लिखा, “तीन महीने पुराने पत्र पर कोई कार्रवाई नहीं की गई और कुख्यात अपराधियों की सूची में विकास का नाम न होने से पता चलता है कि उसका संपर्क दूर तक था.” पुलिस के मुताबिक, विकास दुबे सुबह लगभग 8 बजे उज्जैन के महाकाल मंदिर पहुंचा और उसके बाद उसने वहां के सुरक्षाकर्मियों को अपनी पहचान के बारे में सूचना दी और पुलिस को सूचित करने को कहा. Also Read - Sushant Death Case: ED दफ्तर पहुंची रिया चक्रवर्ती, अब गहरे राज से उठेंगे पर्दे, पूछताछ न करने की लगाई थी गुहार

कानपुर में घात लगाकर 8 पुलिस जवानों की हत्या के बाद दुबे लगभग एक हफ्ते से एक राज्य से दूसरे राज्य घूम रहा था. पुलिस उसे हरियाणा, दिल्ली और भारत-नेपाल सीमा तक पर तलाश रही थी. इस बीच एक तस्वीर वायरल हुई, जिसमें विकास दुबे मंदिर परिसर में एक सोफे पर आराम से बैठा नजर आ रहा है. उत्तर प्रदेश पुलिस ने आधिकरिक तौर पर विकास की गिरफ्तारी की पुष्टि की है. इस बीच, मध्य प्रदेश के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा गैंगस्टर की गिरफ्तारी का श्रेय लेने का प्रयास किया.