पुरी: जगन्नाथ मंदिर में आने वाले श्रद्धालुओं के लिए पंक्ति व्यवस्था शुरू करने के खिलाफ एक सामाजिक-सांस्कृतिक संगठन के 12 घंटे के बंद के दौरान बुधवार को यहां भड़की हिंसा में नौ पुलिसकर्मी घायल हो गये.

पुलिस ने बताया कि श्री जगन्नाथ सेना द्वारा शहर में बुलाया गया दिनभर का बंद उस समय हिंसक हो गया जब 12वीं सदी में बने मंदिर में भीड़ घुस गयी. भीड़ ने बैसी पहाचा और सिंहद्वार के नजदीक लगे बैरिकेडों को हटा दिया और श्री जगन्नाथ मंदिर प्रशासन (एसजेटीए) के कार्यालय में तोड़फोड़ की.

उन्होंने बताया कि प्रदर्शनकारियों ने एक पुलिस चौकी और सिंहद्वार के नजदीक एक सूचना केन्द्र में भी तोड़फोड़ की. इसके बाद टायरों को जला दिया गया और पथराव किया गया. एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि पथराव में नौ पुलिसकर्मी घायल हो गये जबकि भीड़ के हमले में कई ढांचों को व्यापक नुकसान पहुंचा. इसके कारण स्थिति को नियंत्रित करने के लिए पुलिस को हल्का बल प्रयोग करना पड़ा. घटना के बाद मंदिर के आसपास के इलाकों में धारा 144 लागू कर दी गयी है.