नई दिल्ली: भारत और चीनी सेना के बीच काफी वक्त से लद्दाख में तनाव जारी है. इस बीच यह विवाद ठंडा होने का नाम नहीं ले रहा बल्कि यह विवाद अब और भी गहराता जा रहा है. सोमवार रात गलवान इलाके में तनाव इस कदर बढ़ गया कि हिंसक झड़प में भारतीय सेना के अफसर और 2 जवान शहीद हो गए. Also Read - कांग्रेस ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से किए 4 सवाल, कहा- क्या भारत के दावे को गलवान घाटी में कमजोर किया जा रहा है?

इस बाबत भारतीय सेना ने बयान जारी कर कहा है कि काफी वक्त से दोनों देशों के सैन्य अधिकारियों के बीच मामले को ठंडा करने के लिए लंबे वक्त से बातचीत चल रही है. इस बीच सोमवार को गलवाना घाटी में रात के वक्त डि-एस्किलेशन की प्रक्रिया के दौरान दोनों देशों के सेनाओं के बीच हिंसक झड़प हुई. इस झड़प में भारतीय सेना के एक अधिकारी और दो जवान शहीद हो गए. Also Read - India-China Border News Update: टकराव वाले इलाकों गोग्रा और हॉट स्प्रिंग्स से पीछे हटे चीनी सैनिक पर इंडियन एयरफोर्स अब भी....

गौरतलब है कि 5 अप्रैल के बाद से गलवान घाटी में दोनों देशों के बीच तनाव देखने को मिल रहा है. चीनी सैनिकों द्वारा LAC को पार कर भारतीय सीमा क्षेत्र में घुसने के बाद से ही यह तनाव बना हुआ है. बता दें कि दोनों देशों की हजारों की तादाद में सेना सीमा के करीब तैनात है. बीते दिनों भारतीय सैन्य अधिकारी व चीनी सैन्य अधिकारी के बीच बातचीत भी हुई थी जिसका कोई नतीजा अबतक नहीं निकल सका है. Also Read - कांग्रेस का सवाल- भारतीय सेना LAC पर हमारी ही सरजमी से क्यों हट रही है पीछे, क्या पीएम मोदी के शब्दों के मायने नहीं?