Indo China Border Tension: पूर्वी लद्दाख के गलवान घाटी में चीनी सैनिकों के साथ हिंसक झड़प में शहीद हुए भारतीय सैनिकों की संख्या को लेकर तरह-तरह के दावे किए जा रहे हैं. न्यूज एजेंसी एएनआई ने सैन्य सूत्रों के हवाले से कहा है कि इस संघर्ष में 20 से ज्यादा सैनिक शहीद हुए हैं. सोमवार रात में हुए इस संघर्ष को लेकर मंगलवार दोपहर में सरकार ने कहा था कि केवन तीन सैनिक शहीद हुए हैं. इसके बाद मंगलवार देर रात सरकार ने शहीद हुए सैनिकों की संख्या 20 बताई. मंगलवार रात में ही एएनआई ने सैन्य सूत्रों के हवाले से कहा कि शहीद सैनिकों की संख्या 20 से ज्यादा है. Also Read - J&K: पाकिस्‍तान की गोलाबारी में आर्मी हवलदार शहीद, सेना दे रही मुंहतोड़ जवाब

इस टकराव में भारतीय सेना के एक कर्नल सहित 20 सैनिक शहीद हो गए. पिछले पांच दशक से भी ज्यादा समय में सबसे बड़े सैन्य टकराव के कारण क्षेत्र में सीमा पर पहले से जारी गतिरोध और भड़क गया है. Also Read - India-China Border News Update: टकराव वाले इलाकों गोग्रा और हॉट स्प्रिंग्स से पीछे हटे चीनी सैनिक पर इंडियन एयरफोर्स अब भी....

सेना ने शुरू में मंगलवार को कहा कि एक अधिकारी और दो सैनिक शहीद हुए. लेकिन, देर शाम बयान में कहा गया कि 17 अन्य सैनिक जो अत्यधिक ऊंचाई पर शून्य से नीचे तापमान में गतिरोध के स्थान पर ड्यूटी के दौरान गंभीर रूप से घायल हो गए थे, उन्होंने दम तोड़ दिया है. इससे शहीद हुए सैनिकों की संख्या बढ़कर 20 हो गई है.

सरकारी सूत्रों ने कहा है कि चीनी पक्ष के सैनिक भी उसी अनुपात में हताहत हुए हैं.

वर्ष 1967 में नाथू ला में झड़प के बाद दोनों सेनाओं के बीच यह सबसे बड़ा टकराव है. उस वक्त टकराव में भारत के 80 सैनिक शहीद हुए थे और 300 से ज्यादा चीनी सैन्यकर्मी मारे गए थे. इस क्षेत्र में दोनों तरफ नुकसान ऐसे वक्त हुआ है जब सरकार का ध्यान कोविड-19 संकट से निपटने पर लगा हुआ है.