नई दिल्ली: राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में घने कोहरे के कारण शनिवार सुबह दृश्यता घटकर 50 मीटर रह गई, जबकि न्यूनतम तापमान 8.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया. भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) के अधिकारियों के अनुसार, न्यूनतम तापमान सामान्य से एक डिग्री ज्यादा दर्ज किया गया. अधिकतम तापमान 16 डिग्री सेल्सियस के आसपास रहने की संभावना है. शुक्रवार को शहर का अधिकतम तापमान सामान्य से दो डिग्री कम 17.7 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया.Also Read - Heavy Rains in Kerala: 5 जिलों में रेड अलर्ट, लैंडस्‍लाइड में 12 लोग लापता, बाढ़ से एक की मौत, एयरफोर्स से मांगी मदद

Also Read - Delhi Pollution Today: बिगड़ने लगी दिल्ली की आबो-हवा, 300 के पार पहुंचा एयर क्वालिटी इंडेक्स

अधिकारी ने बताया कि शहर के कई हिस्सों में घने कोहरे के साथ दिनभर आसमान साफ रहेगा. वायु गुणवत्ता और मौसम अनुमान एवं अनुसंधान प्रणाली के अनुसार शहर की वायु गुणवत्ता ‘खराब’ है, और यह 281 दर्ज की गई है. उन्होंने कहा कि शनिवार सुबह दृश्यता कई स्थानों पर घटकर 50 मीटर रह गई. उत्तर भारत में कोहरे के कारण दिल्ली से चलने वाली 20 ट्रेनें देरी से चलीं. अधिकांश ट्रेनें तीन घंटे की देरी से चल रही हैं, लेकिन कुछ चार से पांच घंटे की देरी से चल रही हैं. आईएमडी ने अपने अनुमान में कहा कि पंजाब, हरियाणा और चंडीगढ़ और दिल्ली और पश्चिम मध्य प्रदेश के अलग-अलग हिस्सों में घना कोहरा से बेहद घना कोहरा रहने के आसार हैं. रविवार को अगले 24 घंटों के दौरान उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश, पश्चिम राजस्थान ओडिशा और पूर्वी मध्य प्रदेश में अलग-अलग इलाकों में घना कोहरा रहेगा. Also Read - फिर से कांग्रेस अध्यक्ष बन सकते हैं राहुल गांधी, CWC की बैठक में बोले- नेताओं ने दबाव बनाया तो विचार करूंगा

सोमवार को दिल्ली में हल्की बारिश या बूंदाबांदी
आईएमडी के अनुमान में कहा गया कि रविवार को न्यूनतम तापमान आठ डिग्री सेल्सियस और अधिकतम तापमान 17 डिग्री सेल्सियस के आसपास रहेगा. रविवार को सामान्य कोहरा रहेगा. सोमवार को दिल्ली में हल्की बारिश या बूंदाबांदी होगी और न्यूनतम तापमान नौ डिग्री सेल्सियस रहेगा, जबकि अधिकतम 18 डिग्री सेल्सियस रहने की संभावना है. आसमान में बादल छाए रहेंगे. बारिश के पीछे का कारण ताजा पश्चिमी विक्षोभ है. आईएमडी ने कहा कि नए पश्चिमी विक्षोभ द्वारा पश्चिमी हिमालय क्षेत्र और उत्तर पश्चिम भारत के मैदानी इलाकों को 20 जनवरी से प्रभावित करने की संभावना है. इसके प्रभाव में, 20-21 जनवरी, 2020 के दौरान पश्चिमी हिमालयी क्षेत्र में वर्षा/हिमपात होने की संभावना है.