Vizag Gas Leak: आंध्र प्रदेश के विशाखापट्टनम में स्थित एक केमिकल प्लांट से जहरीली गैस के रिसाव के बाद यहां 1 बच्चे समेत 5 लोगों की मौत हो गई है. आरएस वेंकटपुरन गांव में एलजी पॉलिमर फैक्ट्री में गैस लीक होने के कारण अबतक 120 लोगों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है. वहीं पुलिस प्रशासन अब घर घर जाकर लोगों की जांच कर रही है. इसी बीच राज्य के मुख्यमंत्री वाईएस जगन मोहन रेड्डी ने गैस लीक मामले पर हालात का जायजा लिया. उन्होंने जिला प्रशासन को लोगों की जान बचाने को लेकर हर संभव कदम उठाने का निर्देश दिया है. Also Read - Vizag Gas Leak: विशाखापट्टनम में गांवों को खाली कराने का काम जारी, देखें अभी के हालात, Photos

बता दें कि सीएम रेड्डी विजाग के लिए रवाना होने वाले हैं और जल्द ही किंग जॉर्ज अस्पताल जाएंगे जहां गैस से प्रभावित लोगों का इलाज किया जा रहा है. इस बाबत मुख्यमंत्री कार्यालय ने बताया कि मुख्यमंत्री की पूरे हालात पर नजर है और जिला मशीनरी को तत्काल कदम उठाने और सभी सहायता प्रदान करने को लेकर निर्देश दिया जा चुका है. इस मामले पर गृह राज्यमंत्री जी किशन रेड्डी ने कहा कि आंध्र प्रदेश के विशाखापत्तनम में एक निजी फर्म में गैस रिसाव के कारण निधन होने वाले 5 लोगों के परिवारों के प्रति मेरी संवेदना। स्थिति का जायजा लेने के लिए राज्य के मुख्य सचिव और DGP से बात की है. Also Read - Vizag Gas Leak: फैक्‍ट्री प्रबंधन के खिलाफ आपराधिक केस दर्ज, 11 लोगों की मौत

बता दें कि गैस लीक मामले का खुलासा तब हुआ जब लोगों को लोगों को सांस लेने में दिक्कत व आंखों में जलन होने की शिकायत के बाद उन्हें अस्पताल ले जाया गया. इसके बाद मौके पर सूचना पाकर पुलिस और फायर ब्रिगेड की टीम मौके पर पहुंच गई. फिलहाल सभी बीमार लोगों का अस्पताल में इलाज किया जा रहा है. इस घटना पर जिला चिकित्सा अधिकारी ने कहा कि एलजी पॉलिमर इंडस्ट्री में रासायनिक गैस रिसाव के बाद एक बच्चे सहित 5 लोगों की मौत हो चुकी है. वहीं 200 से ज्यादा लोगों को आंखों में जलन व सांस लेनें में दिक्कत के कारण अस्पताल में भर्ती कराया गया है.

इस बारे में विशाखापतनम शहर के सीपी आरके मीणा ने बताया कि गैस को बेअसर कर दिया गया है। एनडीआरएफ की टीम मौके पर पहुंच गई है। इस गैस का प्रभाव 1-1.5 किलोमीटर के दायरे में ही था. लेकिन केमिकल गैस की गंध 2.5 किलोमीटर के दायरे तक में फैली थी. अबतक 120 लोगों को अस्पताल भिजवाया गया है. वहीं इस घटना में एक बच्चे समेत कुल 3 लोगों की मौत हुई है. उन्होंने आगे बताया कि यह स्टाइरीन गैस का रिसाव था. सूचना पाकर मौके पर पहुंचकर हमने गांवों को खाली करवाया. फिलहाल हम घर-घर जाकर इसकी जांच कर रहे हैं.