नई दिल्ली. केंद्रीय मंत्री वी के सिंह एक विदेशी मीडिया संस्थान को दिए इंटरव्यू में अपनी ‘मोदी की सेना’ वाली एक टिप्पणी को लेकर विवाद में घिर गए. उन्होंने हालांकि इस तरह की टिप्पणी से इनकार किया है. बीबीसी इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक, वीके सिंह ने एक इंटरव्यू में कहा था कि जो कोई भी भारतीय सेना को मोदी की सेना कहता है वह देशद्रोही है.

वी के सिंह ने हालांकि टिप्पणी करने की बात को पुरजोर तरीके से खारिज करते हुए कहा कि संबंधित रिपोर्टर ने ‘कट-पेस्ट’ करने का काम किया है. उन्होंने ट्विटर पर सवाल खड़ा किया कि ऐसा करने के लिए मीडिया हाउस को ‘‘कितना पैसा मिला’’.

वीडियो किया था जारी
बीबीसी इंडिया ने वी के सिंह के साथ अपनी बातचीत का एक पूरा वीडियो अपने ट्विटर हैंडल पर जारी किया है ताकि उसके दावे की पुष्टि की जा सके और कहा कि विदेश राज्य मंत्री ने इसके लिए प्रेस्टीट्यू शब्द का भी इस्तेमाल किया था. उन्होंने कहा था, सेना किसी की नहीं होती है. सेना सिर्फ देश की होती है. इसमें मोदी सेना कहां से आ गई.