नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोरोना वायरस के खतरे के मद्देनजर जनता से 22 मार्च को एक दिन के लिए जनता कर्फ्यू लगाने की अपील की है, जिसका समर्थन करते हुए राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) ने सभी स्वयंसेवकों से जनता कर्फ्यू में अपना योगदान देने के लिए तैयार रहने को कहा है. Also Read - लॉकडाउन के दौरान 'गंभीर चूक', केंद्र ने दिल्ली सरकार के दो अधिकारियों को किया निलंबित

  Also Read - बोल्ड तस्वीरें देख मचल जाते हैं फैंस, कोरोना संकट के समय गरीबों में दूध बांट रही है ये एक्ट्रेस

आरएसएस के सरकार्यवाह सुरेश भय्याजी जोशी ने कहा कि कोरोना वायरस की चुनौती का सामना करने के लिए प्रधानमंत्री ने राष्ट्र के नाम जो आह्वान किया है, राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ इन सभी प्रयासों का समर्थन करता है. संकल्प और संयम इस मंत्र को लेकर 22 मार्च के जनता कर्फ्यू सहित केंद्रीय एवं राज्य सरकारों के सभी प्रयासों की सफलता के लिए सभी स्वयंसेवक अपने परिवार की मानसिकता तैयार कर समाज जागरण में भूमिका सुनिश्चित कर इस चुनौती का सामना करने में अपना योगदान देंगे.

22 मार्च को सुबह सात से रात तक नौ बजे तक जनता कर्फ्यू
उधर, भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की इस अपील की सराहना करते हुए कहा कि पार्टी के कार्यकर्ता इसमें सक्रिय भूमिका निभाएंगे. प्रधानमंत्री मोदी ने 22 मार्च को सुबह सात से रात तक नौ बजे तक लोगों से घरों से बाहर न निकलकर जनता कर्फ्यू का पालन करने की अपील की है.