Meghalaya-elections-21-343-5434-6 Also Read - फारूक अबदुल्ला से ED की पूछताछ को लेकर नेशनल कॉन्फ्रेंस का केंद्र पर हमला- 'राजनीतिक बदले की कार्रवाई' बताया

जम्मू/श्रीनगर:  जम्मू एवं कश्मीर में विधानसभा चुनाव के तहत प्रथम चरण के मतदान में मंगलवार को हल्की धूप निकलने के बाद मतदाताओं में उत्साह नजर आया। मौसम साफ होने के बाद कश्मीर घाटी के कंगन, गांदेरबल, सोनावारी और गुरेजन विधानसभा क्षेत्रों के मतदान केंद्रों पर पुरुषों एवं महिलाओं की लंबी कतारें नजर आईं। ठंड की वजह से इन क्षेत्रों में सुबह मतदान प्रक्रिया धीमी थी। Also Read - महबूबा मुफ्ती की रिहाई के बाद घाटी में हलचल तेज, राजनीतिक दल आज फिर करेंगे बैठक

निर्वाचन अधिकारियों ने बताया कि राज्य में कहीं से किसी अप्रिय घटना की खबर नहीं है। पहले दो घंटों में मतदान शांतिपूर्ण ढंग से हुआ। Also Read - रिहाई के बाद महबूबा मुफ्ती ने जारी किया ऑडियो मैसेज, 'नहीं भूले काले दिन के काले फैसले की बेइज्जती, संघर्ष जारी रहेगा'

एक अधिकारी ने बताया, “सातों जिलों के 1,787 मतदान केंद्रों पर मतदान शांतिपूर्ण ढंग से शुरू हुआ।”

मतदान के पहले चरण में 10 लाख से ज्यादा मतदाता 123 उम्मीदवारों की किस्मत का फैसला करेंगे।

बनिहाल, रामबन, किश्तवाड़, इंदरवाल, डोडा और भदेरवा निर्वाचन क्षेत्रों में भी मौसम साफ होने के बाद मतदान में तेजी आई है।

लद्दाख क्षेत्र के लेह, कारगिल, जांस्कर एवं नुबरा निर्वाचन क्षेत्रों में मुस्लिम एवं बौद्ध मतदाता अपनी-अपनी पारंपरिक पोशाकों में अपने मताधिकार का प्रयोग करने मतदान केंद्रों पर पहुंचे।

लद्दाख क्षेत्र के कुछ मतदान केंद्रों पर महिला मतदाओं की संख्या पुरुषों से अधिक देखी गई।

गांदेरबल विधानसभा के लार शहर में मतदाताओं का उत्साह देखने लायक है, क्योंकि राज्य की दोनों बड़ी पार्टियों- नेशनल कांफ्रेंस (एनसी) के उम्मीदवार शेख अशफाक जब्बार और पीपल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) के उम्मीदवार काजी मुहम्मद इस शहर के निवासी हैं।

इस मतदान केंद्र पर 1,200 मतदाता पंजीकृत हैं, जिनमें से 180 ने पहले दो घंटे में अपने मताधिकार का प्रयोग किया।

पहली बार मतदान करने वाले 24 वर्षीय निसार ने बताया, “हमने बदलाव के लिए मतदान में हिस्सा लेने का फैसला किया।”

सोनावारी निर्वाचन क्षेत्र के संबल ओर बांदीपुरा निर्वाचन क्षेत्र के बांदीपुरा में भी मतदाता लंबी कतारों में अपनी बारी का इंतजार करते नजर आए।

गांदेरबल में उच्च माध्यमिक विद्यालय में बने मतदान केंद्र में पहले दो घंटों में 250 मतदाताओं ने मताधिकार का प्रयोग किया। लोकसभा चुनाव के दौरान चुनाव बहिष्कार के कारण इस केंद्र पर मात्र 82 मतदाओं ने मतदान किया था।

ठंड और धुंध के कारण 15 विधानसभा सीटों पर मतदान प्रक्रिया शुरुआत में धीमी रही।

लद्दाख क्षेत्र के नुबरा, लेह, कारगिल, जांस्कर निर्वाचन क्षेत्रों में सुबह तापमान शून्य से कई डिग्री कम रहा। गुरेज में मतदान की शुरुआत के समय केवल एक-दो मतदाआतों ने ही मतदान किया।

गांदेरबल जिले की कंगन विधानसभा सीट के हरिगनिमेन मतदान केंद्र पर कड़ाके की ठंड के बावजूद मतदाताओं, खासतौर से युवा मतदाताओं में खासा उत्साह नजर आया।

यहां पारंपरिक कश्मीरी परिधान पहने बहुत से युवा मतदाता मतदान केंद्र पर खड़े होकर अपनी बारी का इंतजार कर रहे हैं। इनमें से अधिकतर पहली बार मतदान कर रहे हैं।

इस मतदान केंद्र पर कुल 642 पंजीकृत मतदाता हैं, जिनमें से 335 पुरुष और 307 महिलाएं हैं। सुबह 8.30 बजे तक केंद्र पर लगभग 50 मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया।

एक 20 वर्षीय छात्रा मामिना ने बताया, “मैं उसे वोट दूंगी, जो इस पिछड़े इलाके के विकास के लिए काम करेगा।”

मतदान के इस चरण में कश्मीर घाटी के दो जिलों, लद्दाख क्षेत्र के दो और जम्मू क्षेत्र के तीन जिलों में मतदान हो रहा है।

निर्वाचन आयोग ने 255 माइक्रो पर्यवेक्षकों के अलावा, 159 केंद्रों पर वेबकास्टिंग की व्यवस्था की है।