नई दिल्ली. मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ के भांजे रतुल पुरी अगस्तावेस्टलैंड वीवीआईपी हेलीकॉप्टर धनशोधन मामले में बृहस्पतिवार को प्रवर्तन निदेशालय के समक्ष पेश हुए. अधिकारियों ने बताया कि पुरी मामले के जांच अधिकारी से पूर्वाह्न करीब 11 बजे मिले. ऐसा माना जा रहा है कि पुरी का बयान धनशोधन रोकथाम कानून (पीएमएलए) के तहत दर्ज किया जाएगा. Also Read - एमपी में कांग्रेस उपचुनाव जीती, तो दोबारा "परदे के पीछे मुख्‍यमंत्री" बन जाएंगे दिग्विजय सिंह: ज्‍योतिरादित्‍य सिंधिया

प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने बुधवार को दिल्ली की एक अदालत को जानकारी दी थी कि उसने अगस्तावेस्टलैंड वीवीआईपी हेलीकॉप्टर धनशोधन मामले में पुरी को पूछताछ के लिए बुलाया है. पुरी हिंदुस्तान पॉवर प्रोजेक्ट्स प्राइवेट लिमिटेड के अध्यक्ष हैं। पुरी की मां नीता कमलनाथ की बहन हैं. Also Read - Yes Bank Case: ईडी ने लंदन में राणा कपूर के 127 करोड़ रुपए के फ्लैट को कुर्क किया

ईडी ने किया तलब
ईडी ने बताया था कि पुरी को इस मामले के कथित बिचौलिये सुशेन मोहन गुप्ता का सामना कराने के लिए तलब किया गया है. अदालत ने गुप्ता की हिरासत में पूछताछ की अवधि बुधवार को तीन दिन बढ़ा दी थी. गुप्ता की हिरासत अवधि बढ़ाने की मांग करते हुए ईडी ने अदालत से कहा था कि उसका इस मामले में पुरी सहित विभिन्न लोगों से आमना-सामना कराया जाना है. यह मामला अब रद्द हो चुके 3,600 करोड़ रुपये के हेलीकॉप्टर सौदे से जुड़ा है. Also Read - शिवराज को जनता ने सत्ता से हटाया, फिर भी बाज नहीं आए, रोज 3 झूठ बोलते हैं: कमलनाथ

पुरी ने संलिपत्ता से किया इनकार
बुधवार को जांच में शामिल होने के लिए तलब किये गये पुरी ने इस मामले में किसी तरह की संलिप्तता से इंकार किया है. उनकी कंपनी ने अपने बयान में कहा था, वह ईडी के साथ जांच में पूरी तरह से सहयोग करेंगे और जरूरत पड़ने पर कोई भी स्पष्टीकरण या जानकारी देंगे.