Also Read - पुलिसकर्मी की पिटाई का केस: कोर्ट ने महाराष्ट्र की मंत्री को सुनाई सख्‍त सजा, जुर्माना भी लगाया

हैदराबाद, 21 दिसम्बर | केंद्र सरकार ने तेलंगाना के वारंगल और आंध्र प्रदेश के गुंटूर जिले में स्थित अमरावती को शहरों को विरासत के रूप में विकसित करने वाली योजना में शामिल किया है। केंद्रीय शहरी विकास मंत्री एम. वेंकैया नायडू ने इसकी घोषणा की। विरासत शहर विकास एवं संवर्धन योजना (एचआरआईडीएवाई) के तहत वारंगल और अमरावती के अलावा देश भर के 12 शहरों का चयन किया गया है। Also Read - प्रेमिका का कत्ल छुपाने के लिए प्रेमी ने किए 9 मर्डर, फिर कुएं में छिपाईं लाशें, ऐसे हुआ मामले का खुलासा...

वेंकैया नायडू ने रविवार को पत्रकारों से कहा कि केंद्र सरकार इन दो शहरों के विकास के लिए अलग से धनराशि मुहैया कराएगी। इन शहरों के विकास पर अगले वर्ष जनवरी से काम शुरू होने की संभावना है। शहरों की आबादी के आधार पर उन्हें धनराशि आवंटित की जाएगी। Also Read - लॉकडाउन के चलते हो रहे थे बोर, खेलने गए ताश और 24 लोग हो गए कोरोना पॉजिटिव

नायडू ने बताया कि संबंधित राज्य के मंत्रियों, अधिकारियों एवं अन्य जन प्रतिनिधियों की सलाह के बाद शहर के विकास की योजना तैयार की जाएगी। नायडू ने इन शहरों के नगर आयुक्तों के साथ शनिवार को एक बैठक की और विकास योजना के बारे में उनका मशविरा लिया।

वारंगल राजधानी हैदराबाद से 150 किलोमीटर की दूरी पर स्थित एक ऐतिहासिक शहर है तथा 12वीं से 14वीं शताब्दी के बीच यह काकतिया वंश की राजधानी रहा। आंध्र प्रदेश के गुंटूर जिले में स्थित अमरावती दूसरी से तीसरी शताब्दी के बीच सातवाहन वंश की राजधानी रहा। इसके अलावा देश के कुछ प्रमुख बौद्ध विहारों में से एक है तथा आंध्र प्रदेश की नई राजधानी के नजदीक है।