नई दिल्ली: मौसम विभाग ने आज मंगलवार की रात को पश्चिमी हिमालयी क्षेत्र में पश्चिमी विक्षोभ के सक्रिय होने की संभावना को देखते हुए देश के उत्तर पश्चिमी इलाकों एवं मध्य भारत में छह नवंबर से तेज बारिश का दौर शुरू होने की चेतावनी जारी की है.
मौसम विभाग द्वारा जारी मौसम संबंधी पूर्वानुमान के अनुसार, पश्चिमी तट पर सक्रिय चक्रवाती तूफान ‘महा’ के बीच मंगलवार की रात में पश्चिमी हिमालय क्षेत्र में विक्षोभ की सक्रियता के कारण बुधवार को उत्तर पश्चिमी एवं मध्य भारत के मैदानी इलाकों में छह नवंबर को तेज बारिश की आशंका है.

मौसम विभाग के मुताबिक, सोमवार से पूर्व-मध्‍य अरब सागर के ऊपर स्थित चक्रवाती तूफान ‘महा’ पश्चिम और उत्‍तर की ओर बढ़ रहा है. आशंका है कि 6 नवंबर की रात और 7 नवंबर की सुबह को गुजरात और महाराष्‍ट्र से टकराएगा.

विभाग ने इसके मद्देनजर इन इलाकों में भारी बारिश और 90 से 100 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से तूफानी हवाएं चलने की आशंका व्यक्त करते हुए समुद्र में डेढ़ मीटर तक की लहरें उठने की चेतावनी देते हुए मछुआरों से इस दौरान समुद्र में न जाने की सलाह दी है.

विभाग ने अगले 48 घंटे के लिए मौसम का पूर्वानुमान जारी करते हुए चक्रवाती तूफान ‘महा’ के कारण छह नवंबर को गुजरात के सौराष्ट्र और कच्छ क्षेत्र तथा अंडमान निकोबार में कुछ स्थानों पर मूसलाधार बारिश, तथा कोंकण, गोवा एवं मध्य महाराष्ट्र में तेज बारिश की आशंका जताई है. पश्चिमी विक्षोभ के कारण बुधवार को जम्मू कश्मीर में तेज बर्फीली हवाएं और पंजाब और हिमांचल प्रदेश में ओलावृष्टि के साथ तेज हवाएं चलने की संभावना व्यक्त की है.

विभाग ने 7 नवंबर को गुजरात में कुछ स्थानों पर मूसलाधार बारिश के अलावा जम्मू कश्मीर, हिमाचल प्रदेश, पंजाब, पूर्वी राजस्थान, पश्चिमी मध्य प्रदेश और अंडमान निकोबार में कुछ स्थानों पर भारी बारिश तथा इन इलाकों के अलावा हरियाणा में गरज चमक के साथ तूफानी हवाओं की चेतावनी दी है.