बीएसएफ जवानों ने होली से पहले बॉर्डर पर इस त्योहार का जश्न मनाया है. जम्मू में इंटरनेशनल बॉर्डर पर जवानों ने एक-दूसरे के साथ होली खेली. इस मौके पर देशभक्ति के गीत भी बजाए गए. बता दें कि शुक्रवार, 2 मार्च को देश होली का पर्व मना रहा है. इससे पहले गुरुवार को देश में होली दहन का कार्यक्रम होगा. Also Read - जम्मू-कश्मीरः रामबन में अतिक्रमण हटाने गए वन विभाग और पुलिस कर्मियों पर पथराव, 18 कर्मचारी घायल

गुरुवार को होलिका दहन है. रंगों वाली होली से ठीक एक दिन पहले होलिका दहन की पूजा होती है. ऐसी मान्‍यता है कि होलिका दहन की विधिवत पूजन से और शिव पार्वती की कथा सुनने से दांपत्‍य जीवन सुखी होता है. घर में आर्थ‍िक सबलता आती है. होली को नई फसल की शुरुआत भी मानते हैं. इसलिए होलिका दहन में अग्‍न‍ि को फसल का कुछ भाग भी चढ़ाते हैं. Also Read - जम्मू-कश्मीर पुलिस की बड़ी कामयाबी, लश्कर के टेरर फंडिंग माड्यूल का किया भंडाफोड़, एक गिरफ्तार

होलिका दहन का शुभ मुहूर्त
बता दें कि इस बार होलिका दहन के दिन भद्रा लग रहा है. ऐसी मान्यता है कि भद्रा में होलिका दहन नहीं किया जाता है. इसलिए भद्रा समाप्त होने के बाद होलिका दहन किया जाएगा. राजधानी पंचांग के अनुसार भद्रा काल रात 7:39 बजे खत्‍म हो रहा है. इसके बाद होलिका दहन किया जा सकता है.

हालांकि होलिका पूजन सुबह 10:30 के बाद कभी भी कर सकते हैं. पंडित विनोद मिश्र के अनुसार होलिका पूजन यदि वृष लग्‍न और अभिजीत लग्‍न में हो तो शुभ माना जाता है.