नई दिल्ली. राजधानी दिल्ली समेत पूरे उत्तर भारत में पिछले दो दिनों गर्मी ने कहर बरपा रखा है. लेकिन मंगलवार की सुबह राजधानी दिल्ली और एनसीआर में रहने वालों को गर्मी से राहत मिली. मंगलवार की सुबह अचानक मौसम ने करवट ली. दिल्ली, नोएडा, गुड़गांव समेत आसपास के इलाकों में तेज हवाएं चलने लगीं, जिससे लोगों ने राहत की सांस ली. मौसम विभाग के वैज्ञानिकों ने अपने पूर्वानुमान में मंगलवार की शाम तक बारिश की संभावना जताई थी, लेकिन सुबह ही मौसम बदला और राहत की फुहारें पड़नी शुरू हो गईं.

राजधानी दिल्ली में पिछले दो-तीन दिनों से गर्मी ने लोगों का बुरा हाल कर रखा है. सोमवार को तो तापमान ने रिकॉर्ड ऊंचाई अख्तियार कर ली. दिल्ली में सोमवार को दिन का तापमान 48 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया. मौसम विभाग के वैज्ञानिकों के मुताबिक ये पहला मौका है जब जून में राजधानी दिल्ली का टेम्प्रेचर 48 डिग्री सेल्सियस तक पहुंचा है. दिल्ली में भीषण गर्मी की वजह से लोग तेज धूप और उमस से बेहाल हैं.

दिल्ली में पहली बार 48 डिग्री पहुंचा तापमान, रिकॉर्ड तोड़ भीषण गर्मी से बेहाल हुए लोग

दिल्ली के मौसम में अचानक आए इस बदलाव के पीछे देश के पश्चिमी इलाकों में चक्रवाती तूफान को भी एक कारण बताया जा रहा है. मौसम विज्ञान विभाग के मुताबिक गुजरात के तटवर्ती इलाकों में चक्रवाती तूफान आने की चेतावनी दी है. मौसम विभाग के अनुसार, अरब सागर से उठने वाला चक्रवाती तूफान वायु 75 किलोमीटर से लेकर अधिकतम 135 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार के साथ प्रदेश के कई इलाकों में चलेगा. चक्रवाती तूफान 12-13 जून को सौराष्ट्र तट पर दस्तक दे सकता है. तूफान के कारण अहमदाबाद, गांधीनगर और राजकोट समेत तटवर्ती इलाके वेरावल, भुज और सूरत में हल्की बारिश हो सकती है.

आईएमडी के अनुसार, 90-100 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से तेज पवन चलेगा और अरब सागर से लगत उत्तरपूर्वी इलाके में इसकी रफ्तार 115 किलोमीटर प्रति घंटा रह सकती है. मौसम विभाग ने कहा कि 12 जून को दक्षिण गुजरात और महाराष्ट्र के तटवर्ती इलाके में 50-60 किलोमीटर से लेकर 70 किलोमीटर की रफ्तार से हवा चलेगी और 13 जून को इसकी रफ्तार अरब सागर से सटे उत्तरी इलाके में 110-120 किलोमीटर से लेकर 135 किलोमीटर हो जाएगी.

(इनपुट – एजेंसी)