WB Assembly Election 2021: तृणमूल कांग्रेस के बागी नेता शुभेंदु अधिकारी ने विधायक पद से इस्तीफा दे दिया है. इसके बाद टीएमसी के सांसद सौगत रॉय ने उन पर कई तरह के आरोप लगाए हैं. उन्होंने कहा है कि शुभेंदु अधिकारी मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के बाद पार्टी के अगले नेता बनना चाहते थे और साथ ही पश्चिम बंगाल के मुख्यमंत्री भी बनने की इच्छा रखते थे. रॉय ने कहा कि शुभेंदु इसके साथ ही  राज्य के पांच-छह जिलों पर अपना कंट्रोल चाहते थे.Also Read - बुंदेलखंड में अखिलेश यादव ने कहा- 'योगी' वही जो दूसरे का दर्द समझे, लॉकडाउन में मजदूरों के साथ बुरा बर्ताव हुआ

सौगत रॉय ने कहा, ”हमने शुभेंदु अधिकारी से 1 दिसंबर को बात की थी, लेकिन 2 दिसंबर को उन्होंने बताया कि हम साथ में काम नहीं कर सकते हैं. उसी दिन हमने तय कर लिया था कि हम उनसे और बातचीत नहीं करेंगे. हम उनकी महत्वकांक्षाओं को पूरा नहीं कर सकते हैं. वे ममता बनर्जी के बाद अगले नेता बनना चाहते थे और पार्टी यह मानने के लिए तैयार नहीं थी.” Also Read - UP Assembly Election 2022: अमित शाह ने टीवी पर अखिलेश यादव को भाषण देते हुए देखा, फिर यूपी आकर बोले...

शुभेंदु अधिकारी ने बुधवार को विधायक के पद से इस्तीफा देने से पहले, पिछले महीने राज्य मंत्रिमंडल से इस्तीफा दे दिया था और वह पिछले कुछ समय से पार्टी नेतृत्व से भी दूरी बरत रहे थे. वह बुधवार की शाम अचानक राज्य विधानसभा आए और विधानसभा के सचिव को अपना इस्तीफा सौंप दिया था. Also Read - Akhilesh Yadav on Dynasty Politics: वंशवाद की राजनीति पर बोले- एक परिवार वाला ही समझ सकता है परिवार के हर सदस्य का दुख-दर्द

इसके बाद सांसद सौगत रॉय ने दावा किया है कि शुभेंदु अधिकारी बीजेपी में शामिल होने जा रहे हैं. हालांकि, कुछ समय से ही कयास लगाए जा रहे थे कि अधिकारी बीजेपी में जा सकते हैं और 19 दिसंबर को अमित शाह के बंगाल दौरे के दौरान वो पार्टी का दामन थाम सकते हैं. सौगत राय ने कहा, परीक्षण वाले दिनों में कमजोर और लालची लोग पार्टी छोड़ देते हैं.”

शुभेंदु अधिकारी से जुड़े सूत्रों के मुताबिक वे एक या दो दिनों में तृणमूल कांग्रेस की प्राथमिक सदस्यता से भी इस्तीफा दे सकते हैं. तृणमूल कांग्रेस सांसद कल्याण बनर्जी ने कहा, ”बड़ी राहत मिली है, यह राहत की बात है कि उन्होंने विधायक पद से इस्तीफा दे दिया. वह बहुत महत्वाकांक्षी हैं और अगला मुख्यमंत्री या उपमुख्यमंत्री बनना चाहते हैं. वह जा सकते हैं.

वहीं, बीजेपी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष मुकुल रॉय ने अधिकारी के फैसले का स्वागत किया और कहा कि भारतीय जनता पार्टी खुली बाहों के साथ उनका स्वागत करेगी.