rajnath-singh_mufti Also Read - काशी: पीएम मोदी ने किया 'देव दीपावली' का आगाज: विपक्ष पर साधा निशाना, 'कुछ लोगों के लिये विरासत का मतलब परिवार से है'

Also Read - पीएम मोदी ने बाबा विश्वनाथ की पूजा की, प्रसाद में मिला भस्मी और दुपट्टा, देखें वीडियो

जम्मू-कश्मीर के मुख्यमंत्री मुफ्ती मोहम्मद सईद के जहर उगलने वाले बयान के बाद केंद्र सरकार सवालों के घेरे में आ गयी हैं। वही भाजपा को हर तरफ से विरोध का सामना करना पड़ रहा हैं। जिससे भाजपा बैकफुट पर आ गई है। क्योंकि विपक्ष ने इस बयान को मुद्दा बनाकर लोकसभा में खूब हंगामा किया और कहा कि प्रधानमंत्री को इसका सच देश के सामने रखना पड़ेगा। सईद के बयान पर राज्यसभा में हंगामा Also Read - PM Modi in Varanasi: काशी को देव दीपावली का उपहार देने से लेकर किसानों की चिंताओं तक, अपने संसदीय क्षेत्र में पीएम मोदी ने कहीं ये 10 बड़ी बातें

हालांकि गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने लोकसभा में यह कहकर पल्ला झाड़ लिया कि भाजपा का मुफ़्ती के बयान से कोई लेना-देना नहीं है। लेकिन विपक्ष लोकसभा में हंगामा करता रहा। कांग्रेस समेत विपक्ष के कई दलों ने प्रधानमंत्री से बयान की मांग करते हुए सदन से वॉक आउट किया। जम्मू-कश्मीर: मुख्यमंत्री बनते ही मुफ़्ती सईद ने उगला जहर, कहा आतंकियों और पाक की मदद से बना चुनावी माहौल

गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने इस पर कहा कि मैं यह बयान प्रधानमंत्री के साथ चर्चा करके और उनकी सहमति के बाद दे रहा हूं। जम्मू-कश्मीर में शांतिपूर्ण ढंग से विधानसभा चुनाव कराने का श्रेय चुनाव आयोग, सेना, अर्धसैनिक बलों और राज्यों के लोगों को जाता है। विवादित बयान के बाद भी कम नहीं हुई मुफ़्ती की हेकड़ी, कहा जो कह दिया वो कह दिया

इस मसले पर केंद्रीय मंत्री ख्तार अब्बास नकवी ने कहा कि राज्य में शांतिपूर्ण ढंग से चुनाव का श्रेय प्रदेश के लोगों, सुरक्षा बलों और चुनाव आयोग को दिया जाना चाहिए। साथ ही कहा कि अगर कोई हमसे पूछता है तब हमें केवल यह कहना है कि जम्मू कश्मीर के लोगों, चुनाव आयोग और केंद्रीय या राज्य के सुरक्षा बलों के उत्साह और जुझारूपन को इस महत्वपूर्ण लोकतांत्रिक कार्य को पूरा करना का श्रेय जाता है। जम्मू-कश्मीर के मुख्यमंत्री बने मुफ्ती मोहम्मद सईद, पीएम मोदी की मौजूदगी में ली शपथ

गौरतलब है कि मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने के ठीक बाद पीडीपी नेता मुफ्ती मोहम्मद सईद ने रविवार को मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने के बाद कहा था कि विधानसभा चुनाव कराने के लिए उपयुक्त माहौल बनाने देने का श्रेय पाकिस्तान, हुर्रियत और आतंकी संगठनों को दिया जाना चाहिए।