नई दिल्ली. सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत ने युवाओं को भारत की एकता के विचार को महसूस करने के लिए उन्हें सेना में शामिल होने के लिए प्रेरित किया है. बिपिन रावत ने कहा कि लोगों को ‘सूक्ष्म पहचान’ में नहीं फंसना चाहिए बल्कि एकसाथ एक रूप में ऊपर उठना चाहिए. 

जनरल बिपिन रावत की हुंकार, 'जिसने मचा दी पाकिस्तान-चीन में खलबली'

जनरल बिपिन रावत की हुंकार, 'जिसने मचा दी पाकिस्तान-चीन में खलबली'

Also Read - भारतीय सेना से जुड़ने का यह है आसान तरीका! ऐसे करेंगे तैयारी तो पूरा हो जाएगा आपका सपना | Watch Video

Also Read - Indian Army Recruitment 2021: 12वीं पास के लिए भारतीय सेना में अप्लाई करने की कल है अंतिम डेट. इस Direct Link से करें आवेदन  

जनरल रावत ने कहा, ‘यदि आप एकता महसूस करना चाहते हैं तो सेना में शामिल होइये और देखिये कि कैसे विभिन्न पृष्ठभूमियों से आने वाले हम लोग भारतीय के तौर पर रहते हैं. याद रखें कि हम सभी पहले भारतीय हैं. हमें इसका गर्व है और देश पहले आना चाहिए. उसके बाद हम साथ रहना सीख सकते हैं.’ Also Read - Indian Army Officer Jobs: भारतीय सेना में ऑफिसर बनने का है सपना, तो जानिए क्या है योग्यता और कैसे होता है सेलेक्शन

जनरल रावत असम और अरुणाचल प्रदेश के 27 युवाओं के साथ संवाद कर रहे थे जो कि राष्ट्रीय एकता दौरे के तहत नई दिल्ली आये हुए हैं. उन्होंने कहा, ‘हम सभी भारतीय हैं और हम स्वयं को बंगाली, या असमी या अरुणाचल प्रदेश निवासी नहीं कहते.’