नई दिल्ली: संयुक्त राष्ट्र में पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान द्वारा आरएसएस को निशाना बनाये जाने के एक दिन बाद राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ने कहा कि इमरान ने उसे निशाना बनाकर संघ और भारत को एक दूसरे का पर्याय बनाने का काम किया क्योंकि संगठन आतंकवाद के खिलाफ रहा है. आरएसएस के सह सरकार्यवाह कृष्ण गोपाल ने एक समारोह में कहा कि इमरान खान ने आरएसएस के नाम को फैलाने का काम किया और पाकिस्तानी प्रधानमंत्री को अब यहीं नहीं रूकना चाहिए.

उन्होंने कहा, ‘‘आरएसएस केवल भारत में है और भारत के लिये है. उसकी दुनिया में कहीं और शाखा नहीं है. पाकिस्तान हमसे क्यों गुस्से में है ?’’ गोपाल ने कहा, ‘‘इसका अर्थ हुआ कि अगर वह संघ से नाराज हैं, तो भारत से भी नाराज हैं. आरएसएस और भारत एक दूसरे के पर्याय बन गए हैं.’’

आरएसएस के वरिष्ठ प्रचारक ने कहा, ‘‘ हम चाहते हैं कि दुनिया भारत और आरएसएस को एक रूप में देखें, अलग अलग रूप में नहीं देखे. इमरान खान ने इस काम को बखूबी किया है और हम इसके लिये उन्हें बधाई देते हैं. वे हमारे नाम का प्रचार कर रहे हैं. ’’ उन्होंने कहा कि जो लोग आतंकवाद के पीड़ित हैं, इसके खिलाफ हैं, वे अब समझने लगे हैं कि आरएसएस आतंकवाद के खिलाफ है और इसलिए खान आरएसएस पर निशाना बना रहे हैं.