नई दिल्‍ली: भारतीय मौसम विभाग ने ताजा सेटेलाइट इमेज जारी करते हुए कई राज्‍यों में गरज-चमक के साथ बारिश का अलर्ट जारी किया है. बंगाल की खाड़ी से पूर्वोत्तर की ओर जाने वाली नमीयुक्त दक्षिणी पश्विमी हवाओं तथा अरब सागर से हो कर आने वाली हवाओं के चलते 18 और 19 जुलाई को उत्तर और पूर्वोत्तर भारत में वर्षा में बढ़ोतरी की संभावना है. उत्तरी भारत में 18 से 20 जुलाई के दौरान और पूर्वोत्तर में 18 से 21 जुलाई के दौरान कछ स्थानों पर भारी वर्षा हो सकती है. Also Read - भारत, चीन ने अपने-अपने कमांडरों के छठे दौर की वार्ता के नतीजों का पॉजिटिव रूप से आकलन किया

मौमस विभाग के मुताबिक, उपग्रह इमेजरी से उत्तराखंड, उत्तरी राजस्थान, दक्षिण पंजाब, हरियाणा, पश्चिम यूपी, बिहार, दक्षिण तटीय आंध्र प्रदेश, उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल, पूर्वोत्तर राज्यों के कुछ हिस्सों पर बादल गहराते हुए नजर आ रहे हैं. आईएमडी ने कहा है कि इन क्षेत्रों में गरज और चमक के साथ हल्‍की बारिश की संभावना है. Also Read - बिहार की सभी 243 सीटों पर चुनाव लड़ेगी जय महाभारत पार्टी, कहा- हम किसानों को समृद्ध करना चाहते हैं

वहीं, उत्‍तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर, हस्‍तिनापुर, बिजनौर, सहारनपुर, नजीबाबाद, रुड़की, नरवाना और चांदपुर से लगे इलाकों में आज सुबह गरज और चमक के साथ बारिश होगी.

भारतीय मौसम विज्ञान विभाग ने कहा, अगले 2 घंटे के दौरान मेरठ, मुजफ्फरनगर, हस्तिनापुर, बिजनौर, हापुड़, गढ़मुक्तेश्वर, कैथल, अमरोहा, संभल, शामली, सहारनपुर, नजीबाबाद, रुड़की, नरवाना और चांदपुर में गरज के साथ आंधी और बारिश होगी.


उत्तराखंड, पंजाब, दिल्ली, हरियाणा, उत्तर प्रदेश और बिहार के लिए ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है. आईएमडी ने कहा कि मानसून 18 जुलाई से हिमालय की तलहटी वाले क्षेत्रों की ओर धीरे धीरे बढ़ना शुरू कर सकता है.

उत्तर और पूर्वोत्तर भारत में भारी वर्षा का अनुमान
– भारतीय मौसम विज्ञान विभाग ने उत्तर और पूर्वोत्तर भारत में भारी वर्षा होने का अनुमान जताया था
– पश्चिम बंगाल, सिक्किम, असम और मेघालय में 19 से 21 जुलाई के दौरान भीषण बारिश की संभावना
– अरुणाचल प्रदेश में 19 – 20 जुलाई के दौरान भीषण वर्षा होने की संभावना
– आईएमडी ने पश्चिम बंगाल, असम एवं मेघालय के लिए 19 से 21 जुलाई तक रेड वार्निंग जारी
– अरुणाचल प्रदेश के लिए 19- से 20 जुलाई तक रेड वार्निंग
– अरुणाचल प्रदेश के लिए 21 जुलाई के लिए ऑरेंज अलर्ट भी जारी किया.
– संभावित वर्षा से असम में बाढ़ की स्थिति और बिगड़ सकती है
– असम में जहां 33 में से 27 जिलों में 39.8 लाख से अधिक लोग गुरुवार को बाढ़ से बेहाल थे
– असम में इस साल बाढ़ एवं भूस्खलन से अब तक 102 लोग अपनी जान गंवा चुके हैं.