Weather Forecast:बंगाल की खाड़ी पर बने चक्रवाती तूफान गुलाब के ओडिशा- पश्चिम बंगाल के दक्षिणी हिस्सों की ओर बढ़ने की चेतावनी दी गई है. इन दोनों राज्यों के साथ ही आंध्र प्रदेश के लिए मौसम विभाग ने Red Alert की चेतावनी जारी की है. ओडिशा-पश्चिम बंगाल और आंध्र प्रदेश के कई जिलों में अगले तीन दिनों में भारी से भारी बारिश होने की संभावना है, इसे लेकर मौसम विभाग ने हाई अलर्ट जारी किया है. ओडिशा में ओडीआरएफ की टीम भेजी गई है साथ ही एनडीआरएफ की टीम को भी भेजा गया है.Also Read - Delhi Rains: दिल्ली-एनसीआर में मौसम ने बदला मिजाज, सुबह से हो रही बारिश, कल भी बरसेंगे बादल

विशेष राहत आयुक्त (एसआरसी) पी के जेना ने कहा कि सरकार ने बचाव दलों को संवेदनशील इलाकों में भेजा और अधिकारियों से निचले इलाकों से लोगों को बाहर निकालने को कहा है. ओडिशा आपदा त्वरित कार्य बल (ओडीआरएएफ) के 42 दलों और राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल (एनडीआरएफ) के 24 दलों के साथ दमकल कर्मियों को सात जिलों गजपति, गंजम, रायगढ़, कोरापुट, मल्कानगिरी, नबरंगपुर, कंधमाल भेजा गया है. Also Read - Heavy Rains in Kerala: 5 जिलों में रेड अलर्ट, लैंडस्‍लाइड में 12 लोग लापता, बाढ़ से एक की मौत, एयरफोर्स से मांगी मदद

तूफान गुलाब मचा सकता है भारी तबाही Also Read - Red-Orange Alert In Kerala: केरल के 5 जिलों में भारी से भारी बारिश, 7 जिलों में भारी बारिश का अलर्ट जारी

आईएमडी ने चेतावनी दी है और आगाह किया, ‘चिह्नित जिलों में कई निचले इलाके डूब जाएंगे.ओडिशा के दक्षिणी क्षेत्र के पर्वतीय इलाकों में अचानक बाढ़ आने की आशंका है. गंजम और पुरी के शहरी इलाकों में भारी से बहुत भारी और कुछ हिस्सों में अत्यधिक भारी बारिश के कारण जलभराव हो सकता है.’ आईएमडी के महानिदेशक ने बताया है कि राज्य सरकार ने कुछ इलाकों में नदियों के उफान पर होने, भूस्खलन आने की आशंका को लेकर आगाह किया है.

अगले तीन दिनों के दौरान समुद्र में ऊंची लहरें उठेंगी और ओडिशा, पश्चिम बंगाल और आंध्र प्रदेश में मछुआरों को 25 से 27 सितंबर तक बंगाल की खाड़ी के पूर्वी-मध्य और उत्तरपूर्वी क्षेत्र में समुद्र में न जाने को कहा गया है.

आईएमडी कोलकाता के निदेशक ने कहा…

जीके दास, निदेशक, आईएमडी कोलकाता ने कहा है कि उत्तर-पूर्व और इससे सटे पूर्व-मध्य बंगाल की खाड़ी के ऊपर एक चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र बनने की संभावना है. बाद के 24 घंटों में, यह कम दबाव का क्षेत्र होगा और 29 सितंबर के आसपास पश्चिम बंगाल तट पर पहुंचने की संभावना है.

दास ने कहा कि दक्षिण बंगाल में 28 से 29 सितंबर को विशेष रूप से भारी वर्षा और हवा के मामले में मौसम की गतिविधि में वृद्धि होने की संभावना है. 28 सितंबर को कोलकाता, उत्तर 24 परगना, पूर्व और पश्चिम मेदिनीपुर, झारग्राम, हावड़ा, हुगली में भारी वर्षा की संभावना है.

ओडिशा के विशेष राहत आयुक्त ने कहा….
ओडिशा के विशेष राहत आयुक्जेत पीके जेना ने बताया कि इस चक्रवाती तूफान से गंजाम के गंभीर रूप से प्रभावित होने की आशंका है और इसके लिए इलाके में 15 बचाव दलों को तैनात किया गया है. इसके अलावा दमकल के 11 दलों के अलावा ओडीआरएएफ के छह दलों और एनडीआरएफ के 8 दलों को आपात स्थिति से निपटने के लिए तैयार रहने को कहा गया है.

गजपति और कोरापुट के जिला प्रशासनों ने 25 और 26 सितंबर को अवकाश रद कर दिए हैं. जिलाधीशों ने सरकारी अधिकारियों और कर्मचारियों को किसी भी आपात स्थिति से निपटने के लिए अपने-अपने मुख्यालय में रहने का निर्देश दिया है।.

मौसम विभाग ने दी है ये चेतावनी….
भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) के अनुसार, बंगाल की खाड़ी के उत्तर और मध्य हिस्से पर बना गहरे दबाव का क्षेत्र 14 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से पश्चिम की ओर बढ़ा है. शनिवार को सुबह साढ़े आठ बजे गहरे दबाव का क्षेत्र गोपालपुर से 510 किलोमीटर पूर्व-दक्षिणपूर्व और आंध्र प्रदेश में कलिंगपत्तनम से 590 किलोमीटर पूर्व में स्थित था.

आईएमडी ने कहा, ‘यह 26 सितंबर की शाम तक कलिंगपत्तनम के आसपास विशाखापत्तनम और गोपालपुर के बीच उत्तर आंध्र प्रदेश और दक्षिण ओडिशा तटों की ओर बढ़ सकता है.’ आईएमडी के महानिदेशक डॉ. मृत्युंजय मोहपात्र ने बताया कि चक्रवाती तूफान के प्रभाव से 95 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार तक हवा चलने का अनुमान है.

आज इन इलाकों में भारी बारिश का अलर्ट जारी

रविवार को दक्षिण ओडिशा और उत्तरी तटीय आंध्र प्रदेश में ज्यादातर स्थानों पर हल्की से मध्यम बारिश होने और कुछ इलाकों में भारी से बहुत भारी बारिश होने की संभावना है.

ओडिशा के उत्तरी अंदरुनी इलाकों, तेलंगाना और छत्तीसगढ़ में भी रविवार को भारी बारिश हो सकती है. इसी तरह आईएमडी ने 27 सितंबर के लिए ओडिशा और तेलंगाना के ज्यादातर स्थानों पर हल्की से मध्यम बारिश होने और कुछ स्थानों पर भारी बारिश होने का अनुमान जताया है और इसके साथ ही तटीय पश्चिम बंगाल के कुछ स्थानों पर भारी बारिश की संभावना है.