अमरावती: आंध्र प्रदेश में गहरे अवसाद के चलते पिछले कुछ दिनों से भारी बारिश की स्थिति बनी हुई है और आने वाले समय में भी इससे छुटकारा मिलने के कोई आसार नहीं है क्योंकि मौसम विभाग ने तटीय आंध्र और यानम के अलग-अलग स्थानों पर भारी से बहुत भारी बारिश होने की भविष्यवाणी की है. यहां रायलसीमा के भी कुछ भागों में मूसलाधार बारिश होने का अनुमान लगाया गया है. पश्चिम गोदावरी जिले के कुछ भागों में सोमवार शाम से बारिश ने अपनी दस्तक दे दी है. मंगलवार को भी यहां यही स्थिति बनी रही. Also Read - बारिश की मार झेल रहा आंध्र प्रदेश, 3 दिन में 8 लोगों की मौत

मौसम विभाग के मुताबिक, मंगलवार को बंगाल की खाड़ी सहित आसपास के इलाकों में कम दबाव के विकसित होने की संभावना है, क्योंकि चक्रवाती संचलन बंगाल की पूर्वी मध्य खाड़ी से केंद्र में स्थित स्थानों तक पहुंच चुका है, जो समुद्र तल से 5.8 किलोमीटर ऊपर की ओर है. हालांकि मौसम विभाग ने इस बात की भी सूचना दी है कि दक्षिणी आंध्र तट से दूर पश्चिम बंगाल की खाड़ी के ऊपर चक्रवाती परिसंचरण का प्रभाव कम हुआ मालूम पड़ता है. Also Read - अनोखी घटना : रात में चक्रवाती तूफान निवार ने मचाई तबाही, सुबह लोगों को बिखरा मिला सोना

बता दें कि इससे पहले तेलंगाना के कई हिस्सों में भारी बारिश देखने को मिली थी. इस दौरान हैदराबाद शहर में अकेले दर्जन भर से अधिक लोगों की मौत हो गई थी. साथ ही पूरे शहर में भारी बारिश के कारण बाढ़ की समस्या उत्पन्ना हो गई थी. बाढ़ के पानी के कारण राष्ट्रीय राजमार्ग व शहरभर में जाम जैसी स्थिति बनी रही. Also Read - Cyclone Nivar Live: चक्रवाती तूफान निवार के मद्देनजर 37 हजार लोगों को निकाला गया, NDRF की 25 टीमें और पोत भी तैनात

(इनपुट-आईएएनएस)