Weather Report:  उत्तर भारत में ठंड का प्रकोप जारी रहा, वहीं, कश्मीर के कई हिस्सों में फिर से बर्फबारी हुई. इसके चलते केंद्र शासित प्रदेश में उड़ानों का आवागमन प्रभावित हुआ. भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने कहा कि राजस्थान, उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, पंजाब, दिल्ली और मध्य प्रदेश के कई हिस्सों में घना कोहरा छाया रहा. कर्नाटक, तमिलनाडु, पुडुचेरी, केरल और कश्मीर में कई स्थानों पर भारी वर्षा हुई. दिल्ली में न्यूनतम तापमान सामान्य से चार डिग्री अधिक 10.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया. Also Read - India Weather Forecast: पूरे उत्तर भारत में शीत लहर से बढ़ी ठिठुरन, कश्मीर में बर्फबारी तो दिल्ली में बारिश की संभावना

IMD के एक अधिकारी ने बताया कि राष्ट्रीय राजधानी के ऊपर बादल छाए रहने की वजह से न्यूनतम तापमान में ज्यादा गिरावट दर्ज नहीं की जा रही है. आईएमडी ने बताया कि दिल्ली में न्यूनतम तापमान में दो से तीन डिग्री सेल्सियस की गिरावट होने की संभावना है, क्योंकि शनिवार से बर्फीले पहाड़ों से उत्तरपश्चिमी हवाएं मैदानी इलाकों की ओर चलनी शुरू हुई हैं. जम्मू कश्मीर में श्रीनगर और घाटी के कुछ अन्य इलाकों में शनिवार को फिर बर्फबारी हुई, जिससे यहां हवाई अड्डे पर विमानों का परिचालन बाधित हुआ. Also Read - Weather Report Today: दिल्ली में घने कोहरे के कारण विजिबिलटी हुई शून्य, 50 से अधिक उड़ानों में देरी

उन्होंने बताया कि ताजा बर्फबारी तड़के शुरू हुई. इस सप्ताह की शुरुआत में लगातार चार दिन तक बर्फबारी हुई, जिससे पूरा इलाका बर्फ की चादर से ढंका नजर आया. अधिकारियों ने बताया कि सुबह 8.30 बजे तक श्रीनगर में चार इंच बर्फबारी हुई. अधिकारियों ने बताया कि दक्षिण कश्मीर में कुलगाम में पांच इंच, अनंतनाग में तीन, शोपियां में तीन और पुलवामा में चार इंच बर्फबारी दर्ज की गई. उत्तर कश्मीर के बांदीपोरा में दो इंच बर्फ गिरी वहीं मध्य कश्मीर के बडगाम और गांदेरबल जिलों में तीन इंच बर्फबारी हुई. Also Read - Jammu Kashmir: श्रीनगर में टूटा पिछले 30 साल का रिकॉर्ड, जम गई डल झील

अधिकारियों ने कहा कि उत्तरी कश्मीर में गुलमर्ग के प्रसिद्ध स्की-रिजॉर्ट और दक्षिण में पहलगाम पर्यटन स्थल पर बर्फबारी की कोई खबर नहीं है. उन्होंने बताया कि घाटी के कुछ अन्य इलाकों में बारिश भी हुई. मौसम विभाग के कार्यालय ने शनिवार को जम्मू कश्मीर में दूर-दराज के स्थानों पर बहुत हल्की बारिश या बर्फबारी होने का पूर्वानुमान व्यक्त किया था. विभाग ने यह भी कहा था कि भारी मात्रा में बर्फबारी का पूर्वानुमान नहीं है और मौसम 14 जनवरी तक शुष्क रहने की संभावना है.

अधिकारियों ने कहा कि ताजा बर्फबारी के कारण हवाई यातायात प्रभावित हुआ और श्रीनगर हवाई अड्डे से विमान परिचालन नहीं हुआ. उन्होंने कहा कि हवाईपट्टी पर बर्फ जमा होने के कारण विमान संचालन में बाधा आ रही है और इससे कई उड़ानों में देरी हुई है. अधिकारियों ने कहा, ‘आज उड़ानों में देरी होने की संभावना है, वहीं कई उड़ाने रद्द भी की गई हैं.’ अधिकारियों ने कहा कि श्रीनगर-जम्मू राष्ट्रीय राजमार्ग सातवें दिन शनिवार को यातायात के लिए बंद रहा.

उन्होंने कहा कि 260 किलोमीटर लंबा राजमार्ग इस सप्ताह की शुरुआत में भारी बर्फबारी और भूस्खलन के कारण बंद हो गया था, जिसे शुक्रवार को साफ कर दिया गया और सबसे पहले फंसे हुए वाहनों को जाने की अनुमति दी गई लेकिन यहां अभी किसी नए यातायात को अनुमति नहीं दी गई है. अधिकारियों ने कहा कि श्रीनगर में न्यूनतम तापमान शून्य से 4.0 डिग्री सेल्सियस नीचे दर्ज किया गया. हिमाचल प्रदेश में, केलांग और कल्पा में तापमान शून्य डिग्री से नीचे रहा.

शिमला मौसम केंद्र के निदेशक मनमोहन सिंह ने कहा कि आदिवासी जिला लाहौल और स्पीति का प्रशासनिक केंद्र केलांग माइनस 9 डिग्री सेल्सियस के साथ राज्य का सबसे ठंडा स्थान रहा. उन्होंने कहा कि किन्नौर जिले के कल्पा में शून्य से 3.8 डिग्री सेल्सियस नीचे तापमान दर्ज किया गया. मनाली, डलहौजी और कुफरी में न्यूनतम तापमान क्रमशः 1, 2.5 और 4.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया. पंजाब और हरियाणा में भी ठंड का प्रकोप जारी रहा, हालांकि, इस क्षेत्र में न्यूनतम तापमान सामान्य से अधिक दर्ज किया गया.

(इनपुट: भाषा)