Weathr Update: उत्तर प्रदेश में आकाशीय बिजली की चपेट में आने से तीन लोगों की मौत हो गई. वहीं उत्तर प्रदेश और राजस्थान के के कई इलाकों में शनिवार को हल्की से मध्यम दर्ज की बारिश दर्ज की गई. हालांकि, देश के अधिकतर हिस्सों में मौसम शुष्क बना रहा. राष्ट्रीय राजधानी में भी बारिश दूर ही रही और अधिकतम तापमान 37.3 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जो सामान्य से तीन डिग्री सेल्सियस अधिक है. भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) के आंकड़ों के अनुसार राष्ट्रीय राजधानी में सितंबर के महीने में अब तक 71 प्रतिशत कम बारिश हुई है. Also Read - Weather Update: बिहार-झारखंड-बंगाल सहित कई राज्यों में भारी बारिश का अलर्ट, जानिए मौसम का हाल

वर्षा ऋतु शुरू होने के बाद एक जून से अब तक दिल्ली में 576.5 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई जबकि सामान्यत 594.6 मिली मीटर बारिश दर्ज की जाती है. आईएमडी ने यह भी कहा कि दिल्ली में मानसून लंबे समय तक रह सकता है और इसके अक्टूबर के शुरुआती दिनों में ही लौटने की संभावना है. Also Read - अगले सप्ताह से वापस होगा मानसून, कई राज्यों में हो सकती है भारी बारिश, जानें मौसम के बारे में क्या है आईएमडी की रिपोर्ट

मौसम विभाग के मुताबिक पड़ोसी पंजाब और हरियाणा में मौसम गर्म रहा और दोनों राज्यों के कई इलाकों में सामान्य से अधिक तापमान दर्ज किया गया. चंडीगढ़ में दिन में तापमान सामान्य से तीन डिग्री अधिक 35.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया. Also Read - England vs Australia 3rd ODI Probable XI: आज इन खिलाड़ियों के साथ उतर सकती हैं इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया की टीमें

हरियाणा में अंबाला और करनाल में अधिकतम तापमान क्रमश: 35.6 और 35 डिग्री सेल्सियस रहा. वहीं पंजाब के अमृतसर और लुधियाना में अधिकतम तापमान क्रमश: 35.6 और 35.7 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया.

मौसम विभाग का पूर्वानुमान है कि अगले 48 घंटे तक दोनों राज्यों में शुष्क मौसम बना रहेगा. राजस्थान में कुछ स्थानों पर हल्की से मध्यम दर्जे की बारिश को छोड़कर शनिवार को मौसम शुष्क रहा. बांसवाड़ा के कुशलगढ़ और सिरोही में शनिवार सुबह तक छह सेंटीमीटर बारिश दर्ज की गई.

मौसम विभाग के अनुसार राज्य के कुछ इलाकों में अगले 48 घंटे में हल्की बारिश हो सकती है. उत्तर प्रदेश के बांद जिले के एक गांव में अकाशीय बिजली गिरने से तीन लोगों की मौत हो गई. अकाशीय बिजली की चपेट में मवेशी भी आए हैं. मौसम विभाग ने शनिवार को बताया कि प्रदेश के पूर्वी जिलों के कुछ इलाकों में गरज और चमक के साथ बारिश हुई.

विभाग के अनुसार 14 और 15 सितंबर को प्रदेश के कुछ पश्चिमी इलाकों में हल्की से तेज बारिश और पूर्वी इलाकों में कई स्थानों पर कहीं गरज-चमक के साथ तेज और कहीं हल्की बारिश हो सकती है.

गुजरात के सौराष्ट्र और कच्छ इलाके में शुष्क दिनों के बाद भारी बारिश हुई है. एक तालुका में मात्र आठ घंटे में 107 सेंटीमीटर बारिश दर्ज की गई है. अधिकारियों के मुताबिक गुजरात में इस वर्षा ऋतु में अब तक 124 प्रतिशत वर्षा हुई है.

राज्य आपदा परिचालन केंद्र के मुताबिक सौराष्ट्र के कुछ इलाके जैसे द्वारका, कच्छ और जामनगर में भारी बारिश हुई है. देवभूमि द्वारका के कल्याणपुर तालुका में शनिवार शाम चार बजे तक गत आठ घंटे में 107 मिलीमीटर बारिश दर्ज हुई है.

आईएमडी के अहमदाबाद केंद्र के मुताबिक आगामी सोमवार से बुधवार के बीच सौराष्ट्र और दक्षिणी गुजरात में मूसलाधार बारिश होगी जबकि जिले के कई हिस्सों में अगले पांच दिनों तक हल्की से मध्यम दर्जे की बारिश हो सकती है. भारतीय मौसम विभाग के दैनिक बुलेटिन के मुताबिक 13 और 14 सितंबर को ओडिशा के कुछ इलाकों में मूसलाधार बारिश होने का अनुमान है.