Weather Report Today: पूरा उत्तर भारत इन दिनों तेज सर्द हवाओं की मार झेल रहा है. तापमान में लगातार गिरावट आ रही है जिससे दिन पर दिन ठंडक बढ़ती जा रही है. राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में शनिवार को ब घने कोहरे के कारण दृश्यता कम होकर शून्य मीटर रह गयी, जिससे यातायात प्रभावित हुआ . मौसम विभाग ने यह जानकारी दी .Also Read - Weather Report: दिल्ली NCR में रिकॉर्डतोड़ बारिश और पहाड़ों पर झमाझम बर्फबारी से पारा लुढ़का, जानें अपने राज्य में मौसम का हाल

राजधानी में घना कोहरा होने के कारण दिल्ली हवाई अड्डे पर 50 से अधिक उड़ानों के संचालन में विलंब हुआ. भारत मौसम विभाग ने बताया कि राजधानी में शनिवार को बहुत घना कोहरा होने के कारण दृश्यता कम होकर शून्य मीटर पर आ गई . हवाई अड्डा अधिकारियों ने बताया कि इसका असर उड़ानों पर पड़ा है और 50 से अधिक उड़ाने विलंबित रही है . इस मौसम में यह तीसरा मौका है जब राजधानी में दृश्यता कम होकर शून्य मीटर पर आ गयी है . इससे पहले आठ दिसंबर और एक जनवरी को दृश्यता कम होकर शून्य मीटर पर आ गयी थी . Also Read - Weather Report Today: दिल्ली NCR में बारिश ने बढ़ाई ठिठुरन, पूरे उत्तर भारत में जारी है ठंड का प्रकोप

मौसम विभाग के अधिकारी ने बताया कि इस मौसम में यह तीसरा मौका है जब दृश्यता कम होकर शून्य मीटर रह गयी है . इससे पहले पिछले साल आठ दिसंबर को और इस वर्ष एक जनवरी को दृश्यता कम होकर शून्य मीटर हो गयी थी. अधिकारी ने बताया कि बहुत घना कोहरा होने के कारण पालम एवं सफदरजंग में दृश्यता कम होकर शून्य मीटर पर आ गयी है . रविवार को राजधानी में घने कोहरे की भविष्यवाणी की गयी है . Also Read - MP Weather News: IMD ने मध्यप्रदेश के 19 जिलों में बारिश के लिए जारी किया 'Orange Alert' जारी किया

मौसम विभाग के अनुसार दृश्यता जब शून्य से 50 मीटर के बीच होती है तो वह ‘बहुत घने कोहरे’ की श्रेणी में आता है. इसी प्रकार दृश्यता 51 से 200 मीटर के बीच रहने पर घना कोहरा, 201 से 500 मीटर के बीच मध्यम और 501 से 1000 मीटर के बीच दृश्यता रहने पर कम कोहरा होता है.

दिल्ली में न्यूनतम तापमान आज 6.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जो सामान्य से एक डिग्री कम है . लोधी रोड मौसम केंद्र में न्यूनतम तापमान 5.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया है. राजधानी के वायु गुणवत्ता सूचकांक में कोई बदलाव नहीं हुआ है और यह लगातार गंभीर श्रेणी में बनी हुआ है .

राजधानी में वायु गुणवत्ता सूचकांक सुबह नौ बजे 436 दर्ज किया गया . आंकड़ों के अनुसार 24 घंटे का औसत सूचकांक शुक्रवार को 460, बृहस्पतिवार को 429, बुधवार को 354, मंलवार को 293 एवं सोमवार को 243 दर्ज किया गया था. मौसम विभाग के क्षेत्रीय पूर्वानुमान केंद्र के प्रमुख कुलदीप श्रीवास्तव ने बताया कि हवा की गति कम हुयी है और इसमें नमी ने प्रदूषको को भारी बना दिया है.

कश्मीर के कई इलाकों में शनिवार को न्यूनतम तापमान में और गिरावट दर्ज की गई जिससे घाटी में सर्दी का प्रकोप और बढ़ गया है. इसकी वजह से प्रसिद्ध डल झील के साथ-साथ कई इलाकों में पानी के स्रोत जम गए हैं.

श्रीनगर सहित घाटी के कई इलाकों में शनिवार की सुबह घना कोहरा छाया रहा जिससे दृश्यता घट गई. मौसम विभाग के अधिकारी ने बताया कि गत रात न्यूनतम तापमान में और गिरावट एवं उसके शून्य से भी कई डिग्री सेल्सियस नीचे चले जाने से शीत लहर का प्रकोप और बढ़ गया है.

उन्होंने बताया कि जम्मू-कश्मीर की ग्रीष्मकालीन राजधानी श्रीनगर में न्यूनतम तापमान शून्य से 8.2 डिग्री नीचे दर्ज किया गया जबकि पिछली रात न्यूनतम तापमान शून्य से 7.6 नीचे दर्ज किया गया था. उन्होंने बताया कि शुक्रवार रात को श्रीनगर में न्यूनतम तापमान सामान्य से छह डिग्री से अधिक नीचे दर्ज किया गया. श्रीनगर में बृहस्पतिवार को न्यूनतम तापमान शून्य से 8.4 डिग्री नीचे दर्ज किया गया जो वर्ष 1991 के बाद सबसे कम तापमान है.