West Bengal Assembly Election 2021: इस साल अप्रैल में पश्चिम बंगाल में होने जा रहे विधानसभा चुनाव से पहले सतारूढ़ टीएमसी और भाजपा में भगदड़ की स्थिति बनती जा रही है. चुनाव से पहले टीएमसी के कई नेताओं को अपने पाले में कर रही चुकी भाजपा ने दावा किया है कि सत्तारूढ़ पार्टी के 41 विधायक उसके खेमे में आना चाहते हैं तो तृणमूल कांग्रेस ने कहा कि भगवा दल के सात सांसद उसके संपर्क में हैं.Also Read - आजम खान बोले-मुझे एनकाउंटर की धमकी मिली है, जेल में कच्ची दाल के पानी से रोटी खाने को मिलती थी

भाजपा महासचिव और बंगाल में पार्टी मामलों के प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय ने दावा किया कि उनके पास ममता बनर्जी सरकार को समर्थन दे रहे ऐसे 41 विधायकों की सूची है जो पाला बदलकर भाजपा में आने के इच्छुक हैं. Also Read - प्रशांत किशोर का बड़ा बयान, कांग्रेस बीजेपी शासित इन दो राज्‍यों में चुनावी हार का सामना कर रही

उन्होंने अपने गृहनगर इंदौर में संवाददाताओं से कहा, “मेरे पास 41 ऐसे विधायकों की सूची है जो भाजपा में आना चाहते हैं. अगर मैं इन 41 विधायकों को भाजपा में ले लूं, तो वहां (बनर्जी की) सरकार गिर जाएगी. पर हम देख रहे हैं कि इनमें से किसे लेना है और किसे नहीं.” Also Read - सुनील जाखड़ ही नहीं इन बड़े नेताओं ने भी कांग्रेस की नय्या छोड़कर भाजपा का दामन थामा, देखें बड़े नेताओं की लिस्ट

विजयवर्गीय ने कहा, “हमने सोचा है कि अगर इनमें से किसी विधायक की छवि खराब है, तो हम उसे भाजपा में नहीं लेंगे.”

पश्चिम बंगाल में इस साल अप्रैल-मई में विधानसभा चुनाव होना है. वहीं, सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस के प्रवक्ता कुणाल घोष ने कोलकाता में दावा किया, “बंगाल से भाजपा के सात लोकसभा सदस्य हमारे संपर्क में हैं. वे बहुत जल्द पार्टी में शामिल होंगे.”