नई दिल्ली: पश्चिम बंगाल के बसीरहाट से तृणमूल कांग्रेस की नवनिर्वाचित सांसद नुसरत जहां पर फतवा जारी किया गया है. चुनाव जीतने के बाद निखिल जैन से शादी करने वालीं नुसरत पर ये फतवा सिंदूर और बिंदी लगाने व मंगलसूत्र पहनने पर जारी किया गया है. फतवा जारी करने वालों का कहना है कि नुसरत मुस्लिम हैं तो उन्हें मुस्लिम से ही शादी करनी चाहिए थी. इसके बाद इस पर विवाद गरमा गया है. खुद नुसरत ने फतवा जारी पर उनके पहनावे पर टिप्पणी करने वालों को करारा जवाब दिया है.

दरअसल, बंगाली फिल्मों की एक्ट्रेस नुसरत जहां जब पहली बार संसद पहुंचीं तो वह साड़ी पहने हुए थीं. उन्होंने माथे पर बिंदी और मांग में सिंदूर भी भरा हुआ था. उन्होंने कुछ दिन पहले ही निखिल जैन से शादी की थी, इसलिए वह नवविवाहिता की तरह ही लग रही थीं. उनके हाथों में मेहंदी लगी थी और उन्होंने चूड़ियां भी पहन कर रखी थीं. संसद में इस तरह पहुंचीं नुसरत ने सभी का ध्यान अपनी ओर खींचा था.

 

View this post on Instagram

 

It’s not about being noticed.. it’s about being REMEMBERED 😘 styled by @sandip3432 pic @somimage mua @sayantadhali

A post shared by Nusrat (@nusratchirps) on

पहनावे को लेकर उठे विवाद के बाद नुसरत ने इसका करारा जवाब दिया है. संसद में शपथ की शुरुआत सलाम कहकर करने वालीं नुसरत ने अपने ट्वीटर अकाउंट पर कहा कि मैं एक ऐसे भारत में हूं जहां जाति और धर्म पीछे छूट जाते हैं. मैं सभी धर्मों का सम्मान करती हूं.’ उन्होंने यह भी कहा कि ‘मैं अभी भी मुस्लिम हूं. और इस पर किसी को बोलने का अधिकार नहीं है कि मैं क्या पहनूं और क्या नहीं. मेरी श्रद्धा इन सब से आगे है. यह सभी धर्मों पर विश्वास करने के बारे में भी है.’