कोलकाता: पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने एनआरसी (राष्ट्रीय नागरिक पंजी) पर भाजपा की बयानबाजी को लेकर मंगलवार को निशाना साधा और कहा कि पूरे भारत में नागरिक पंजी कभी भी एक वास्तविकता नहीं हो सकता क्योंकि देश में रहने वाले सभी लोग उसके वैध नागरिक हैं.

बनर्जी ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘एनआरसी एक राजनीतिक जुमलेबाजी है. यह कभी भी एक वास्तविकता नहीं हो सकती. वे (भाजपा) राजनीतिक जुमलेबाजी का इस्तेमाल करने में व्यस्त हैं लेकिन हमें उनके झांसे में नहीं फंसना चाहिए. इस देश में रहने वाले सभी लोग उसके वैध नागरिक हैं और कोई भी उनकी नागरिकता नहीं छीन सकता.’’

उन्होंने कहा कि एनआरसी को लेकर उनका विरोध केवल राजनीतिक नहीं बल्कि मानवीय आधार को लेकर भी है. तृणमूल कांग्रेस प्रमुख बनर्जी ने कहा, ‘‘देश में पिछले कई दशक से रह रहे किसी व्यक्ति को आप कैसे अचानक विदेशी घोषित कर सकते हैं. यह पूरी तरह अस्वीकार्य है. अखिल भारतीय स्तर पर एनआरसी कभी हकीकत नहीं बनेगी.’’

साथ ही उन्होंने भाजपा को चुनौती देते हुए कहा कि वे एनआरसी को कभी भी अनुमति नहीं देंगी. उन्होंने कहा, “हम नेशनल रजिस्टर ऑफ सिटिजन्स (NRC) की अनुमति नहीं देंगे, ऐसा पश्चिम बंगाल में कभी नहीं होगा. आप एनआरसी को जाति और धर्म के आधार पर लागू नहीं कर सकते.”


(इनपुट भाषा)