कोलकाता: पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के साथ साथ नवनिर्वाचित टीएमसी सांसद नुसरत जहां गुरुवार को इस्कॉन रथयात्रा उत्सव में शामिल हुईं ओर उद्घाटन करते हुए धार्मिक रस्‍मों में हिस्‍सा लिया. ममता बनर्जी के साथ सांसद नुसरत जहां और उनके पति निखिल जैन भी थे. साड़ी, लाल रंग की चूड़ियां और मंगलसूत्र पहने और सिंदूर लगाए नुसरत ने रथयात्रा की रस्मों में हिस्सा लिया. नुसरत जहां के पति निखिल जैन उनके साथ थे जो सफेद कुर्ता पायजामा पहने हुए थे.

मुख्यमंत्री ने कहा, सभी धर्मों के प्रति सहिष्णुता और एकजुटता ही वास्तविक धर्म है. लोगों से शांति और एकता के मार्ग पर चलने का आग्रह करते हुए इस मौके पर बनर्जी ने सभी की कुशलता की कामना की. उन्होंने इस्कॉन के अल्बर्ट रोड सेंटर से रथ यात्रा उत्सव की शुरुआत से पहले जय जगन्नाथ, जय हिंद और जय बांग्ला के नारे लगाए.

बशीरहाट की सांसद ने कहा, पश्चिम बंगाल में हम जाति, पंथ या धर्म से ऊपर उठकर त्योहारों में भाग लेते हैं. बंगाल एकता का प्रतीक है. संसद सदस्य के रूप में शपथ लेने के लिए नुसरत जहां सिंदूर लगाकर और मंगलसूत्र पहनकर आई थी, जिसके लिए वह ट्रोल हुई थी.इन आलोचनाओं पर सांसद ने ट्वीट किया था कि उन्होंने एक समावेशी भारत का प्रतिनिधित्व किया…जो जाति, धर्म और संप्रदाय से ऊपर है.

नुसरत जहां ने रथ यात्रा समारोह के लिए उन्हे आमंत्रित करने के लिए इस्कॉन के प्रति आभार जताया और उन्होंने सभी को अपनी शुभकामनाएं दी. उन्होंने कहा, हम सभी को एक साथ आगे बढ़ना चाहिए और एक साथ रहना सीखना चाहिए..जय जगन्नाथ…