नई दिल्ली: पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री और तृणमूल कांग्रेस की नेता ममता बनर्जी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ मुलाकात की. इस चर्चित मुलाकात के दौरान ममता बनर्जी ने पश्चिम बंगाल को नया नाम देने के मुद्दे को उठाया. पश्चिम बंगाल विधानसभा ने राज्य को नया नाम ‘बांग्ला’ देने के प्रस्ताव को पारित कर दिया है. इसके साथ ही ममता ने पीएम मोदी को पश्चिम बंगाल आने का न्यौता भी दिया.

प्रधानमंत्री के साथ अपनी बैठक को फलदायी बताते हुए ममता बनर्जी ने पत्रकारों से कहा कि पश्चिम बंगाल को नया नाम देना उनकी सरकार का मुख्य एजेंडा रहा है… इसलिए हमने ‘बांग्ला’ को ध्यान में रखते हुए नया नाम देने का प्रस्ताव दिया है. प्रधानमंत्री ने हरसंभव मदद का आश्वासन दिया है. उन्होंने बताया कि प्रधानमंत्री को दुर्गा पूजा के बाद दुनिया के दूसरे सबसे बड़े कोयला ब्लॉक देवचा पचामी का उद्घाटन करने का निमंत्रण भी दिया.

रेलवे कर्मियों के लिए खुशखबरी: मोदी सरकार देगी 78 दिन का बोनस, 11 लाख से अधिक लोगों को होगा फायदा

राष्ट्रीय नागरिक पंजी पर एक सवाल का जवाब देते हुए उन्होंने कहा कि यह असम समझौते का हिस्सा है इसलिए पश्चिम बंगाल में इसे लागू करने का कोई प्रावधान नहीं है. ‘‘न ऐसा कोई प्रस्ताव आया है न ऐसा किया जाएगा.’’ प्रधानमंत्री कार्यालय ने मोदी के आधिकारिक आवास पर दोनों नेताओं की मुलाकात की तस्वीरें ट्वीट कीं. बनर्जी को प्रधानमंत्री को फूलों का गुलदस्ता भेंट करते हुए देखा गया.