पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) ने मंगलवार को दिल्ली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) से मुलाकात की. पीएम मोदी से मुलाकात के ममता बनर्जी ने कहा कि तीसरी बार सरकार बनाने के बाद ही प्रधानमंत्री से मिलने के लिए समय मांगा था.Also Read - PM Modi at New Parliament Building: नए संसद भवन के निर्माण स्थल पर अचानक पहुंचे पीएम मोदी, एक घंटे तक किया निरीक्षण

न्यूज एजेंसी ANI ने ममता बनर्जी के हवाल से बताया, ‘आज पीएम के साथ शिष्टाचार मुलाकात हुई. बैठक के दौरान, मैंने राज्य में COVID और अधिक टीकों और दवाओं की आवश्यकता का मुद्दा उठाया. मैंने राज्य का नाम बदलने के लंबित मुद्दे को भी उठाया. इस मुद्दे पर उन्होंने कहा, ‘वह देखेंगे.’. Also Read - केरल: एक दिन में कोरोना वायरस के 15,951 नए मामले, 165 और मरीजों की मौत

Also Read - मध्य प्रदेश के व्यक्ति की अजीब डिमांड, बोला- पीएम मोदी की मौजूदगी में ही लगवाऊंगा कोरोना वैक्सीन

वहीं, मुलाकात के बाद ममता बनर्जी ने यह भी कहा कि पीएम को पेगासस मुद्दे पर सर्वदलीय बैठक बुलानी चाहिए. इस मामले में सुप्रीम कोर्ट की निगरानी में जांच होनी चाहिए.

बता दें कि तृणमूल कांग्रेस की प्रमुख 2024 के लोकसभा चुनाव से पहले राष्ट्रीय स्तर पर बड़ी भूमिका निभाने की तैयारी में हैं. पश्चिम बंगाल में लगातार तीसरी बार सत्ता पर काबिज होने वाली ममता बनर्जी का विधानसभा चुनाव में जीत दर्ज करने के बाद यह पहला दिल्ली दौरा है. इससे पहले, कोलकाता में राज्य मंत्रिमंडल की विशेष बैठक में हिस्सा लेने के बाद ममता बनर्जी राष्ट्रीय राजधानी के लिए रवाना हुईं थीं.

पीएम मोदी से मुलाकात से पहले ममता बनर्जी वरिष्ठ कांग्रेस नेता कमलनाथ और आनंद शर्मा से भी मिलीं. ममता से मुलाकात के बाद कमलनाथ ने कहा कि वह तृणमूल कांग्रेस की प्रमुख को विधानसभा चुनाव में उनकी पार्टी को मिली जीत की बधाई देने पहुंचे थे. उन्होंने संवाददाताओं से कहा, ‘हमने किसी रणनीति पर चर्चा नहीं की है. इस बारे में हमारी पार्टी की नेता चर्चा करेंगी. हमने मौजूदा हालात और महंगाई के मुद्दे पर चर्चा की है.’

(इनपुट: ANI, भाषा)