भारतीय जनता पार्टी (BJP) के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा (JP Nadda) ने गुरुवार को संगठन स्तर पर कुछ अहम बदलाव किए हैं. BJP प्रमुख ने पार्टी के सह-संगठन मंत्री सौदान सिंह (Saudan Singh) को पार्टी का राष्ट्रीय उपाध्यक्ष नियुक्त किया. वहीं, एक अन्य सह-संगठन मंत्री के रूप में ही जिम्मेदारी संभाल रहे वी सतीश को नवसृजित पद ‘संगठक’ पर नियुक्त किया गया. तीसरे सह-संगठन मंत्री शिव प्रकाश अपने वर्तमान पद पर बने रहेंगे, लेकिन उनके कार्यक्षेत्र में बदलाव किया गया है. वह अब मध्यपद्रेश, छत्तीसगढ़, महाराष्ट्र, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना और पश्चिम बंगाल में पार्टी गतिविधियों को देखेंगे. भाजपा ने एक बयान जारी कर इन संगठनात्मक नियुक्तियों की जानकारी दी. Also Read - बिहार में बीजेपी के प्रदेश प्रवक्ता प्रोफेसर की गोली मारकर हत्या, कॉलेज में दिनदहाड़े वारदात

ये तीनों नेता भाजपा में संगठन महामंत्री बी एल संतोष के अधीन सह- संगठन मंत्री के पद पर थे. मालूम हो कि भाजपा में संगठन महामंत्री का पद बहुत अहम होता है. संगठन महामंत्री मूलत: राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ का पूर्णकालिक प्रचारक होता है और वह भाजपा और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के बीच कड़ी के रूप में काम करता है. शिव प्रकाश पहले उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश और पश्चिम बंगाल में पार्टी का कामकाज देखते थे. नये बदलावों के बाद वे पश्चिम बंगाल में पार्टी गतिविधियों को देखेंगे ही साथ ही मध्यपद्रेश, छत्तीसगढ़, महाराष्ट्र, आंध्र प्रदेश और तेलंगाना भी अब उनके जिम्मे होगा. उनके कार्यक्षेत्र का मुख्य केंद्र भोपाल होगा. Also Read - सुप्रीम कोर्ट ने बंगाल चुनाव संबंधी याचिका पर विचार करने से इनकार किया

इस नियुक्ति से पहले सौदान सिंह मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ के अलावा बिहार और झारखंड में पार्टी की गतिविधियों को देखते थे. सिंह अब केंद्र शासित प्रदेशों, हरियाणा, पंजाब और हिमाचल प्रदेश में पार्टी के कामकाज को देखेंगे. उनका केंद्र रायपुर था जो अब चंडीगढ़ कर दिया गया है. Also Read - सुभाषचंद्र बोस के धर्मनिरपेक्ष विचारों के खिलाफ थे RSS के लोग, BJP को जयंती मनाने का अधिकार नहीं: कांग्रेस

सतीश अब पार्टी के संसदीय कार्यालय, अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति मोर्चा के बीच समन्वय को देखेंगे और पार्टी के विशेष संपर्क कार्यक्रम की जिम्मेदारी निभाएंगे. इससे पहले वह राजस्थान, गुजरात और महाराष्ट्र में पार्टी के कामकाज को देखते थे. उनका केंद्र दिल्ली रहेगा. अब चूंकि सौदान सिंह को राष्ट्रीय उपाध्यक्ष नियुक्त किया गया है और वी सतीश के लिए ‘संगठक’ का पद सृजित कर उन्हें नई जिम्मेदारी सौंपी गई है, भाजपा संगठन में इससे सह-संगठन मंत्री के दो पद खाली हुए हैं.

इन पदों पर निश्चित तौर पर ही संघ के नुमाइंदों की ही नियुक्ति होगी, इसलिए अब सबकी नजरें इसी ओर टिकी रहेंगी कि संघ भाजपा के इन महत्वपूर्ण पदों पर किनकी नियुक्ति करता है. उल्लेखनीय है कि तीनों नेता सतीश, प्रकाश और सिंह राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (आरएसएस) के पूर्णकालिक प्रचारक हैं.

(इनपुट: भाषा)