पश्चिम बंगाल सरकार के एक कर्मचारी को साथी कर्मचारियों से मनचाही पोस्टिंग दिलाने और तबादले कराने के बदले कथित तौर पर रिश्वत लेने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है. एक अधिकारी ने यह जानकारी दी. पोस्टिंग दिलाने और तबादले कराने वाले एक गिरोह की जांच के सिलसिले में राज्य की भ्रष्टाचार निरोधी शाखा (एसीबी) ने शुक्रवार को उक्त कर्मचारी को गिरफ्तार किया. Also Read - Sonagachi: सोनागाछी के सेक्स वर्कर हुए बेहाल, महामारी से बढ़ी मुश्किलें

एसीबी के अधिकारी ने बताया, ‘आरोपी ने राज्य के विभिन्न सरकारी विभागों के कर्मचारियों को मनचाही पोस्टिंग और तबादले दिलाने का वादा किया और उसके एवज में उनसे पैसे लिए. यह सब उसने 2019 में मुख्यमंत्री कार्यालय (सीएमओ) में पदस्थ रहने के दौरान किया. हम मामले की जांच कर रहे हैं.’ Also Read - Sonagachi: सबसे बड़ा Red Light Area है बंगाल का सोनागाछी, जानें क्या है इसके बनने की कहानी

आरोपी सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस द्वारा समर्थित पश्चिम बंगाल राज्य सरकारी कर्मचारी संघ का सदस्य था. अब वह भाजपा की पश्चिमबंगा कर्मचारी परिषद से जुड़ा हुआ है. अधिकारी ने बताया कि आरोपी को शनिवार को अदालत में पेश किया गया जहां से उसे 20 अक्टूबर तक के लिए एसीबी की हिरासत में भेज दिया गया. Also Read - बंगाल: दुर्गा पंडाल में दिखा 'असुर जिनपिंग' का सिर, लोग बोले- मां दुर्गा के हाथों कोरोना वायरस का खात्मा किया

(इनपुट: भाषा)