कोलकाता: पश्चिम बंगाल की ममता बनर्जी सरकार ने राज्यपाल जगदीप धनखड़ की गुरुवार को होने वाली शांतिनिकेतन यात्रा के लिए हेलि‍कॉप्टर उपलब्ध कराने का फैसला किया है. बनर्जी के इस फैसले को राज्य सरकार और राज भवन के बीच सुलह के संकेत के रूप में देखा जा सकता है.Also Read - समुद्र की लहरों पर सवार होकर आया 'सोने का रथ', Video में देखें कैसे लोगों ने उसे किनारे तक पहुंचाया

राज्यपाल सचिवालय ने धनखड़ की यात्रा के लिए राज्य सरकार से एक हेलि‍कॉप्टर उपलब्ध कराने का अनुरोध किया था और पहले के विपरीत इस बार प्रशासन ने इसकी स्वीकृति दे दी. Also Read - बंगाल में BJP को एक और झटका! लोकसभा सांसद अर्जुन सिंह ने छोड़ा पार्टी का दामन- TMC में हुए शामिल

राजभवन के एक अधिकारी ने मंगलवार को कहा, ” एक कार्यक्रम में शामिल होने के लिए शांतिनिकेतन जा रहे राज्यपाल की यात्रा के लिए हमने एक हेलि‍कॉप्टर मांगा था. राज्य सरकार ने इसकी स्वीकृति दे दी है.” Also Read - परिजनों के साथ घूमने आए युवक ने पश्चिम बंगाल के दीघा में की आत्महत्या

बता दें कि धनखड़ ने कल ही राज्य के वित्त मंत्री अमित मित्रा और संसदीय कार्य मंत्री पार्थ चटर्जी के साथ बैठक कर सात फरवरी से शुरू हो रहे पश्चिम बंगाल के बजट सत्र पर चर्चा की थी. सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस के महासचिव चटर्जी के साथ राज्यपाल की एक बैठक रविवार को भी हुई थी, जो करीब डेढ़ घंटे चली थी.

तृणमूल कांग्रेस के एक वरिष्ठ नेता ने कहा कि इस घटना से पता चलता है कि राज भवन और प्रदेश सरकार दोनों अपना रूख नरम कर रहे हैं.

पिछले साल राज्‍यपाल धनखड़ के शांतिनिकेतन, डोमकल और फरक्का जाने के लिए राज्यपाल सचिवालय ने प्रदेश सरकार से कई बार हेलीकॉप्टर देने का अनुरोध किया था, लेकिन सरकार ने अनुरोध ठुकरा दिया था. जादवपुर विश्वविद्यालय में हुई घटना सहित कई मामलों को लेकर धनखड़ और प्रदेश सरकार के बीच तनातनी लगातार जारी है.