नई दिल्ली: पश्चिम बंगाल में सोमवार को त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में बड़े स्तर पर हिंसा की खबरें सामने आ रहीं हैं. इस दौरान मीडियाकर्मियों पर भी हमले हुए हैं.बिरपारा में टीएमसी कार्यकर्ताओं के बूथ कैप्चिंग करने के बाद वहां करवरेज के लिए गए मीडियाकर्मियों पर हमला किया गया. टीएमसी कार्यकर्ताओं के हमले में 5 स्थानीय कार्यकर्ता घायल हो गए हैं. भंगार में मीडिया वाहन जलाए गए और कैमरा भी तोड़ दिया गया. मीडिया के प्रवेश पर वहां प्रतिबंध लगा दिया गया है.

राज्य के साउथ 24 परगना में हिंसा में एक टीएमसी कार्यकर्ता की हत्या कर दी गई है. चुनाव के दौरान हिंसक झड़पों में तृणमूल कार्यकर्ता आरिफ गाजी को गोली मार दी गई, जिससे उसकी मौत हो गई. वहीं, नॉर्थ 24 परगना के आमदागा के साधनपुर में एक बम ब्लास में 20 लोग घायल हो गए.

न्यूज एजेंसी एएनआई के मुताबिक, पश्चिम बंगाल के कूच बिहार जिले के दो समूहों के बीच संघर्ष के बाद 20 लोग घायल हो गए. वोटिंग के दौरान राज्य में कई जगहों पर बूथ कैप्चरिंग, लोगों को वोटिंग से रोकने, पुलिस के सामने हमले की घटनाएं सामने आई हैं. टीएमसी सरकर में एक मंत्री ने पुलिस के सामने ही एक भाजपा समर्थक को थप्पड़ मारा.

ये भी पढ़े: पश्चिम बंगाल में पंचायत चुनाव: वोटिंग के दौरान खून-खराबा, दो को जिंदा जलाया, कई घायल

सीपीआईआएम ने ममता बनर्जी सरकार के निष्पक्ष चुनाव कराने के दावे पर सवाल उठाते हुए कहा है कि चुनाव से पहले रात में उसके दो कार्यकर्ताओं देबदास और ऊषादास को जिंदा जला दिया गया.

(इनपुट:एजेंसी)