कोलकाता। पश्चिम बंगाल में सोमवार एक चरण में हुए पंचायत चुनाव के दौरान भारी हिंसा हुई जिसमें 8 लोग मारे गये और 43 लोग घायल हो गए. इस हिंसा के बीच राज्य में भारी मतदान हुआ. उत्तर 24 परगना , दक्षिण 24 परगना , नदिया , मुर्शिदाबाद और दक्षिणी दिनाजपुर जिलों में व्यापक सुरक्षा इंतजाम के बावजूद सत्तारुढ़ तृणमूल कांग्रेस और विपक्षी दलों के समर्थकों के बीच हिंसक झड़प हुई. वहीं, गृह मंत्रालय ने भी इस संबंध में राज्य सरकार से रिपोर्ट मांगी है. इसे लेकर राजनीतिक दलों में आरोप प्रत्यारोप का दौर चल रहा है. टीएमसी हिंसा के आरोपों को नकार रही है तो वामदल और बीजेपी इसके लिए उसे ही जिम्मेदार ठहरा रहे हैं. प. बंगाल के आसनसोल से बीजेपी सांसद और केंद्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो ने कहा कि अब तक ममता बनर्जी चुप्पी क्यों साधे हुए हैं. वामदलों ने भी ममता सरकार और टीएमसी को हिंसा के लिए जिम्मेदार बताया है.

पश्चिम बंगाल में पंचायत चुनाव में बड़े पैमाने पर हिंसा और मौतें होने का आरोप लगाते हुए एक वकील ने कलकत्ता उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश को वीडियो दिखाया और उनसे शांतिपूर्ण चुनाव सुनिश्चित कराने के लिए राज्य चुनाव आयोग ( एसईसी ) और राज्य के गृह सचिव को तलब करने का अनुरोध किया. लेकिन मुख्य न्यायाधीश जे भट्टाचार्य और न्यायमूर्ति अरजीत बनर्जी की खंडपीठ ने एसईसी और गृह सचिव को सम्मन जारी करने से इनकार कर दिया. वकील ने कथित हिंसा की वीडियो क्लीपिंग देखने के लिए पीठ को अपना मोबाइल सौंपा था.

60 हजार से अधिक सुरक्षाकर्मी थे तैनात

पंचायत चुनाव में पश्चिम बंगाल और पड़ोसी राज्यों से 60 हजार से अधिक सुरक्षाकर्मी तैनात किये गये थे. राज्य चुनाव आयोग के एक अधिकारी ने कहा कि 6 लोगों के मारे जाने की खबर है. उन्होंने बताया कि मुर्शिदाबाद जिले के सुजापुर गांव में मतदान केन्द्र के पास एक व्यक्ति की गोली मारकर हत्या कर दी गयी. मुर्शिदाबाद से भारतीय जनता पार्टी के नेता सुभाष मंडल ने दावा किया कि मारा गया व्यक्ति उनकी पार्टी का कार्यकर्ता है. उन्होंने बताया कि दक्षिण दिनाजपुर जिले के तपन इलाके में बम हमले में एक व्यक्ति के मारे जाने और चार लोगों के घायल होने की सूचना है. उन्होंने बताया कि नदिया के नकाशापारा में एक मतदान केंद्र के बाहर झड़प में एक अन्य व्यक्ति की जान चली गयी. जिले के शांतिपुर इलाके में एक अन्य व्यक्ति की मौत की खबर है.

मंत्री ने मारा एक शख्स को थप्पड़

वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि उत्तर 24 परगना के अमडंगा क्षेत्र में एक मतदान केंद्र के बाहर बम फेंके जाने पर एक सीपीएम समर्थक मारा गया और एक अन्य घायल हो गया. दक्षिण 24 परगना के कुलताली में एक मतदान केंद्र के बाहर बम हमले में एक व्यक्ति की मौत हो गयी. कूचबिहार जिले में उत्तर बंगाल विकास मंत्री रबींद्रनाथ घोष ने एक मतदान केंद्र के बाहर एक व्यक्ति को कथित तौर पर चांटा मारा. आयोग ने कहा कि उसे शिकायत मिली है और अधिकारियों से कार्रवाई करने के लिए कहा गया है. टेलीविजन चैनलों ने दिखाया कि मंत्री ने व्यक्ति को कथित तौर पर थप्पड़ मारा. हालांकि घोष ने दावा किया कि उन्होंने ऐसा कुछ नहीं किया.

होती रही भारी हिंसा 

सूत्रों ने बताया कि उत्तर बंगाल में कूचबिहार जिले के दिनहाटा इलाके में एक मतदान केंद्र के बाहर दो समूहों के बीच झड़पों में मतदाताओं समेत कम से कम 15 लोग घायल हो गए. मतदाताओं ने बाद में पुलिस में शिकायत दर्ज करायी. पुलिस ने बताया कि ईस्ट मिदनापुर जिले के नंदीग्राम इलाके में मतदान केन्द्र के बाहर दो समूहों के बीच हुई झड़प में 15 लोग घायल हो गये हैं. एक व्यक्ति के सिर पर दरांती का वार लगा है जबकि दूसरे व्यक्ति की ऊंगली कट गयी है.

उन्होंने बताया कि जिले के ही कोंटाई में एक निर्दलीय उम्मीदवार और चार अन्य पर मिर्ची पाऊडर फेंका गया जिससे वह घायल हो गये. पुलिस ने बताया कि उत्तर दिनाजपुर जिले के गलाईसुरा में एक मतदान केन्द्र के बाहर से तीन देशी बम मिले हैं. बीरभूम जिले में कुछ मतदान केन्द्रों पर नकाबपोश लोग हथियारों और डंडों के जोर पर मतदाताओं को धमका रहे थे. दक्षिण 24 परगना के बसंती ब्लॉक से आ रही टीवी फुटेज में मतदान केंद्रों के बाहर नकाबपोश बंदूकधारियों को घूमते हुए देखा गया. अधिकारी ने बताया कि इसी जिले के भानगर में पुलिस ने झड़पों के बाद भीड़ को खदेड़ने के लिए लाठियां भांजी और आंसू गैस के गोले छोड़े.

कानूनी लड़ाई के बीच हुए चुनाव

कलकत्ता उच्च न्यायालय , उच्चतम न्यायालय में राज्य चुनाव आयोग , तृणमूल कांग्रेस और विपक्षी दलों के बीच लंबी कानूनी लड़ाई के बाद राज्य में पंचायत चुनाव हो रहा है. प्रदेश भाजपा अध्यक्ष दिलीप घोष ने बताया कि उनकी अगुवाई में पार्टी का एक प्रतिनिधिमंडल हिंसा की शिकायत करने के लिए राज्यपाल के एन त्रिपाठी से मिलेगा. तृणमूल ने चुनाव को ढकोसला बना कर रख दिया है. वरिष्ठ माकपा नेता सुजान चक्रवर्ती ने कहा कि बंगाल में तृणमूल लोकतंत्र की हत्या कर रही है. तृणमूल ने आरोपों को बेबुनियाद और मनगढ़ंत करार दिया.