कोलकाता: तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ता की हत्या के आरोपी भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के कार्यकर्ता का शव रविवार को हुगली जिले के गोगाट में एक नहर से बरामद किया गया. पुलिस ने इस बात की जानकारी देते हुए कहा कि पिछले कुछ दिनों से लापता 45 वर्षीय काशीनाथ घोष का शव कोलकाता के पश्चिम में 90 किलोमीटर दूर गोगाट के कोटा गांव की नहर से बरामद किया गया.

 

भाजपा ने घोष की हत्या का आरोप सत्तारूढ़ तृणमूल पर लगाया है. अरंबाग क्षेत्र में भाजपा के संगठनात्मक अध्यक्ष, बिमान घोष ने कहा कि काशीनाथ हमारी पार्टी के सक्रिय कार्यकर्ता थे. उन्हें तृणमूल कांग्रेस के भेजे हुए गुंडों ने मार दिया. काशीनाथ तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ता लालचंद्र बाग की हत्या के आरोपियों में से एक था. 22 जुलाई को इलाके के नकुंडा गांव में लालचंद्र की कथित तौर पर उस वक्त पीट-पीट कर हत्या कर दी गई थी, जब वह एक दिन पहले (21 जुलाई) ही कोलकाता से अपनी पार्टी द्वारा आयोजित शहीद दिवस में हिस्सा लेकर लौटा था. पुलिस ने मामले में भाजपा के छह स्थानीय नेताओं को गिरफ्तार किया था.

तृणमूल के आंतरिक झगड़े का नतीजा है बाग की हत्या
हालांकि, भाजपा नेताओं ने दावा किया था कि बाग की हत्या तृणमूल के आंतरिक झगड़े का नतीजा है. पार्टी नेताओं ने कहा था कि भाजपा समर्थकों को असली अपराधियों को बचाने के लिए झूठे मामलों में गिरफ्तार किया गया. वहीं घोष की मौत के बारे में स्थानीय तृणमूल नेतृत्व ने दावा किया कि घोष की मौत ज्यादा पीने के कारण हुई और ऐसा कहकर पार्टी ने घटना से खुद को दूर कर लिया.