नई दिल्ली. लोकसभा में आज महाराष्ट्र में भड़की हिंसा के मुद्दे पर सत्ता पक्ष और विपक्ष में नोकझोंक की स्थिति के बीच सदन में कुछ समय के लिए माहौल हल्का हो गया जब कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे द्वारा बोले गये ‘अस्वीकार’ शब्द को लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने ‘स्वीकार’ समझ लिया और चुटीले अंदाज में यह भी कहा कि ‘आपके ही कारण कान बंद हो रहा है.’ इस पर सदस्यों के ठहाके सुनाई दिये.

शून्यकाल में कांग्रेस नेता खड़गे महाराष्ट्र में हिंसा के विषय पर बोल रहे थे. उन्होंने कहा, ‘मैंने नियम 56 के तहत इस विषय पर कार्यस्थगन प्रस्ताव दिया था, वह ‘अस्वीकार’ हो गया है.’ इस पर लोकसभा अध्यक्ष ने ‘अस्वीकार’ की जगह ‘स्वीकार’ शब्द समझा और कहा, ‘कार्यस्थगन प्रस्ताव स्वीकार नहीं हुआ है. मैंने आपको शून्यकाल में बोलने का मौका दिया है.’ इस पर खड़गे ने स्पष्ट किया कि उन्होंने कहा है कि प्रस्ताव ‘अस्वीकार’ हो गया है.

इसके बाद खड़गे ने कहा, ‘मुझे भी थोड़ी थोड़ी हिंदी आती है.’ सुमित्रा महाजन ने कहा कि उन्होंने त्रुटिवश गलत सुन लिया होगा. उन्होंने खड़गे से यह भी कहा, ‘आपको मेरे से ज्यादा अच्छी हिंदी आती है. मेरे ही सुनने में तकलीफ होने लगी होगी.’ फिर स्पीकर ने परोक्ष रूप से कांग्रेस सदस्यों की पिछले कुछ दिन से विभिन्न विषयों पर सदन में नारेबाजी और शोर-शराबे की ओर इशारा करते हुए हल्के फुल्के अंदाज में यह भी कहा, ‘आप ही के कारण ये कान बंद हो रहा है.’

इस पर खड़गे भी जवाब देने में पीछे नहीं रहे और बोले कि मैं आपको अच्छा डॉक्टर बताऊंगा. सदन में गंभीर विषय उठने के दौरान हास्य विनोद वाले इस संवाद पर सदस्यों के ठहाके सुनाई दिये.