नई दिल्ली:  कांग्रेस ने इस साल बैंकिंग क्षेत्र के एक लाख करोड़ रुपये से अधिक का कर्ज बट्टे खाते में डाले जाने दावा किया और पूछा कि नरेंद्र मोदी सरकार सुर्खियों में रहने की चिंता करने की बजाय डिफाल्टरों पर कार्रवाई कब करेगी. पार्टी के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने ट्वीट कर कहा, ‘‘बैकिंग क्षेत्र संकट में है,  बैंकों में आम आदमी के पैसे खतरे में हैं क्योंकि फंसे कर्ज (बैड लोन) बढ़ गए और 2018 में ही एक लाख करोड़ रुपये से अधिक का कर्ज बट्टे खाते में डाल दिये गए.’’ उन्होंने कहा, ‘‘मोदी सरकार सुर्खियों में रहने की बजाय डिफाल्टरों पर कार्रवाई और बैंक सुधार कब करेगी?’’ Also Read - बंगाल विधानसभा चुनाव से पहले राजनीति हुई तेज, कांग्रेस और वामदल के बीच 77 सीटों पर हुआ समझौता

सुरजेवाला ने 2022 तक सभी को मकान उपलब्ध कराने के सरकार के वादे को ‘बड़ा जुमला’ करार दिया और कहा कि यही गति रही तो दो करोड़ मकान बनाने में 240 साल लग जाएंगे. एक अन्य ट्वीट में कहा, ‘‘प्रिय प्रधानमंत्री जी, दो करोड़ मकानों के निर्माण का लक्ष्य पूरा करने में आपकी सरकार को 240 साल लग जाएंगे. आपने इस लक्ष्य का सिर्फ तीन फीसदी ही पूरा किया है.’’ Also Read - सुभाषचंद्र बोस के धर्मनिरपेक्ष विचारों के खिलाफ थे RSS के लोग, BJP को जयंती मनाने का अधिकार नहीं: कांग्रेस

उन्होंने एक मीडिया रिपोर्ट का हवाला देते हुए कहा कि जनवरी, 2018 तक मोदी सरकार ने सिर्फ 3.33 लाख मकान ही बना पाई है. सुरजेवाला ने कहा कि शहरों में ‘सभी के लिए मकान’ का वादा ‘बड़ा जुमला’ बन गया है. Also Read - Congress President Election: कांग्रेस ने कहा- जून में उसका नया निर्वाचित अध्यक्ष होगा