CORONA EPIDEMIC: विश्व स्वास्थ्य संगठन WHO ने बताया है कि कोरोना महामारी दो साल के भीतर खत्म हो जाएगी. संगठन के प्रमुख टेड्रोस एदानोम गेब्रेसस ने बताया कि वर्ष 1918 में फैले स्पेनिश फ्लू की महामारी दो साल से ज्यादा वक्त तक दुनिया में कहर बरपाती रही थी, इसी तरह कोरोना वायरस भी इतने वक्त तक कहर बरपाएगा फिर खत्म हो जाएगा.Also Read - Omicron का खतरा : दक्षिण अफ्रीका से लौटे चंडीगढ़ में तीन, बेंगलुरू में दो कोरोना पॉजिटिव; वेरिएंट की जांच जारी

टेड्रोस ने इसे धरती पर सदियों में एक बार आने वाला वैश्विक संकट बताया है और कहा है कि वैश्वीकरण के इस दौर में हालांकि कोरोना वायरस स्पेनिश फ्लू की तुलना में बेहद तेजी से पूरी दुनिया में फैल गया है, लेकिन आज दुनिया में ऐसी तकनीक हैं, जो इस महामारी से लड़ सकती हैं, लेकिन तब ऐसी सुविधाएं भी नहीं थीं. Also Read - Shocking: 15 महीने से मुर्दाघर में रखे थे कोरोना संक्रमित दो शव, सफाई करने गए कर्मियों ने जैसे ही देखा...

डब्ल्यूएचओ के आपदा प्रमुख डॉ. माइकेल रेयान ने भी कहा कि याद करें कि साल 1918 के फ्लू की दुनिया में तीन लहरें आई थीं और इनमें दूसरी लहर सबसे ज्यादा खतरनाक थी, हालांकि उन्हें ऐसा नहीं लगता है कि कोविड-19 भी इसी पैटर्न पर आगे बढ़ेगा. रेयान ने कहा कि वैसे तो वायरस मौसम के हिसाब से अपनेआप कमजोर पड़ने लगता है, लेकिन कोरोना वायरस के मामले में अब तक ऐसा नहीं देखा गया है. इस तरह से ये वायरस भी कमजार पड़ेगा ही और अन्य वायरस की तरह कहर बरपाकर खत्म हो जाएगा. लेकिन इसमें वक्त लगेगा. Also Read - दक्षिण अफ्रीका से मुंबई लौटा शख्स Corona संक्रमित मिला, क्या Omicron ने देश में दी दस्तक, जानें

बता दें कि आज पूरी दुनिया कोरोना महामारी से त्रस्त है, इस वायरस का संक्रमण तेजी से फैला और इसने कई देशों में कहर बरपाया है. इस वायरस से निजात पाने के लिए वैक्सीन की खोज की जा रही है. कई वैक्सीन का ट्रायल चल रहा है और कई वैक्सीन का ट्रायल सफल भी रहा है. जल्द ही वैज्ञानिक इसका वैक्सीन बनाने में सफल होंगे, तबतक लोगों को इस वायरस को झेलना ही होगा.