Tractor Rally: 26 जनवरी के दिन राजधानी दिल्ली में जो हुआ वह न्यायोचित कहीं से नहीं था. इसमें 2 चीजें खुलकर देखने को मिली. पहली कि कुछ किसान दिल्ली पुलिस द्वारा दिए गए रूट्स पर अपनी शांतिप्रिय रैली को कर रहे थे. लेकिन दूसरी तरफ जो उपद्रवी थे उन्होंने राजधानी दिल्ली में उपद्रव मचाया और लाल किले पर निशान साहिब और किसान संगठनों का झंडा लहरा दिया. लेकिन इस बीच एक वीडियो वायरल हुए जिसमें एक्टर दीप सिद्धू लाल किले के पास दिखाई दे रहे हैं. इसके बाद किसान नेताओं द्वारा उनपर आरोप लगाए जाने लगे और हिंसा को भड़काने का आरोप भी दीप सिद्धू पर लगाया गया है.Also Read - बीड़ी के बंडल पर दिखी Dharmendra और Hema Malini की फोटो, भड़के एक्टर ने यूं दिया जवाब

हालांकि दीप सिद्धू ने प्रदर्शनकारियों की इन हरकतों का बचाव करते हुए कहा कि हमने राष्ट्रीय ध्वज को नहीं हटाया है. बल्कि प्रतीकात्मक विरोध के तौर पर निशान साहिब को वहां लगाया है. निशान साहिब सिख धर्म का प्रतीक है और यह हर गुरुद्वारे में लगाया जाता है. सिद्धू ने फेसबुक पोस्ट पर बताया कि इसे सांप्रदायिक रंग नहीं देना चाहिए. यह कोई योजनाबद्ध कदम नहीं था. दीप सिद्धू ने कहा कि हमने निशान साहिब का झंडा लगाया और किसान एकता का नारा भी लगाया. निशान साहिब की ओर इशारा करते हुए सिद्धू ने कहा कि झंडा देश की विविधता में एकता का प्रतिनिधित्व करता है. वहीं निशान साहिब सिख धर्म का प्रतिनिधित्व करता है. Also Read - Juhi Chawla के साथ रोमांटिक हुए Sunny Deol, देखते ही बेतहाशा रोने लगा बेटा Karan Deol

दीप सिद्धू ने कहा कि लाल किले से तिरंगे ध्वज को नहीं हटाया और किसी ने भी देश की एकता और अखंडता पर सवाल नहीं किया. सिद्धू ने इसे जन आंदोलन बताते हुए कहा कि लोगों के वास्तविक अधिकारों को जब नजरअंदाज किया जाता है तो इस तरह का आंदोलन एक जनआंदोलन का रूप ले लेता है. लोगों का गुस्सा भड़क उठता है. Also Read - फिल्म इंडियन के रिलीज़ को पूरे हुए 20 साल, Sunny Deol ने किया धर्मेंद्र को याद

कौन है दीप सिद्धू

दीप सिदूध अभिनेता व सामाजिक कार्यकर्ता है. दीप की फिल्मी करियर की शुरुआत रमता जोगी फिल्म से की थी. बताया जाता है कि इस फिल्म के निर्माता अभिनेता धर्मेंद्र हैं. बता दें कि NIA ने 17 जनवरी को सिख फॉर जस्टिस से जुड़े केस के मामले में सिद्धू को तलब भी किया था. बता दें कि सिख फॉर जस्टिस एक संस्था है जो खालिस्तानी समर्थक है.

योगेंद्र यादव के सवाल

स्वराज पार्टी के नेता योगेंद्र यादव ने दीप सिद्धू को लेकर कहा कि सिद्धू को शुरू से ही उन्होंने अपने प्रदर्शनों से दूर कर दिया था. हालांकि भारतीय किसान यूनियन के प्रवक्ता राकेश टिकैत ने कहा कि हिंसा कुछ असामाजिक तत्वों के कारण हुई.

दीप सिद्धू का सनी देओल के साथ कनेक्शन

बता दें कि साल 2019 लोकसभा चुनाव के दौरान जब गुरदासपुर से सनी देओल लोकसभा चुनाव लड़ रहे थे. इस दौरान दीप सिद्धू पूरे चुनाव प्रचार के दौरान सनी देओल के साथ मौजूद रहे थे. एक तस्वीर में वे सनी देओल के और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ बी दिखाई पड़ते हैं. लेकिन सिद्धू के लाल किले पर पहुंचने और सनी देओल पर लग रहे आरोपों के बाद सनी देओल ने ट्वीट कर लिखा- आज लाल किले पर जो हुआ उसे देख कर मन बहुत दुखी हुआ है, मैं पहले भी 6 दिसंबर को ट्विटर के माध्यम से यह साफ कर चुका हूं कि मेरा या मेरे परिवार का दीप सिद्धू के साथ कोई संबंध नही है। जय हिन्द’