Why doctors are on strike today: द ऑल इंडिया मेडिकल एसोसिएशन ने 11 दिसंबर को देशभर में हड़ताल का आह्वान किया है. इस कारण आज पूरे देश में निजी चिकित्सक इमर्जेंसी सेवाओं को छोड़कर कोई और सेवा नहीं दे रहे हैं. ये डॉक्टर केंद्र सरकार के एक हालिया फैसले के खिलाफ हड़ताल पर हैं. केंद्र सरकार ने हाल ही में आयुष चिकित्सकों को एक ब्रिज कोर्स करने के बाद सर्जरी करने की छूट देने की बात कही है. Also Read - देशभर में आज डॉक्टरों की हड़ताल, सरकार के इस फैसले के विरोध में IMA ने स्ट्राइक का किया ऐलान

  • हड़ताल कर रहे एलोपैथिक डॉक्टरों का कहना है कि अभी एलोपैथिक, आयुर्वेद, यूनानी और होम्योपैथी की अपनी-अलग पहचान है, ऐसे में इन सबको मिलाकर मिक्सोपैथी बनाने के घातक परिणाम होंगे.
  • केंद्र सरकार ने आयुष में पोस्टग्रेजुएट करने के डॉक्टरों को सर्जरी की छूट देने की बात कही है. डॉक्टर शुक्रवार सुबह 6 बजे से शाम 6 बजे तक हड़ताल पर हैं.
  • केंद्र सरकार ने आयुष में पोस्टग्रेजुएट डॉक्टरों को जनरल सर्जरी के साथ हड्डी और दांत की सर्जरी करने की छूट दी है.
  • आईएमए ने केंद्र सरकार के इस फैसले को गलत करार दिया है. उसने कहा है कि इलाज की सभी विधियों को मिलाने के गलत रिजल्ट होंगे.
  • एलोपैथी डॉक्टरों की इस संस्था के तहत पिछले काफी समय से मेडिकल के छात्र और प्रेक्टिशनर आंदोलन कर रहे हैं.
  • आईएमए ने कहा कि नीति आयोग (NITI Aayog) मेडिसीन के सभी सिस्टम को मिलाकर एक नया सिस्टम बनाना चाहता. लेकिन इससे केवल एक ‘Mixopathy’ बनेगा, जो ठीक नहीं होगा.
  • इस हड़ताल में उत्तर प्रदेश के करीब 22 हजार निजी चिकित्सक शामिल हुए हैं. राज्य के निजी अस्पतालों, नर्सिंग होम, और जांच केंद्रों की सभी सेवायें शुक्रवार को बंद रहीं, और इस दौरान केवल आपात सेवा और कोरोना वायरस संक्रमण के मरीजों का ही इलाज किया जा रहा है.
  • आईएमए के राज्य इकाई के अध्यक्ष डॉ अशोक राय ने बताया कि उत्तर प्रदेश के 21 हजार 500 निजी अस्पताल, पैथोलॉजी, डायग्नोस्टिक सेंटर और निजी चिकित्सक शुक्रवार सुबह छह बजे से शनिवार सुबह छह बजे तक काम बंद रखेंगे और इस दौरान केवल आपातकालीन सुविधाएं और कोविड-19 मरीजों का उपचार होगा. उन्होंने बताया कि ‘इंडियन डेंटल एसोसिएशन’ ने भी आईएमए के इस कदम को समर्थन दिया है.
  • उन्होंने कहा,‘‘ आयुष चिकित्सकों को ब्रिज(अल्पअवधि) कोर्स कराकर सर्जरी करने की छूट दी जा रही है. इंटीग्रेटेड मेडिसिन के लिए केंद्र सरकार ने समितियां गठित की हैं. अभी एलोपैथिक ,आयुर्वेद, यूनानी और होम्योपैथी की अपनी अलग पहचान है, ऐसे में इन सबको मिलाकर मिक्सोपैथी बनाने के घातक परिणाम होंगे.’’
  • आईएमए लखनऊ की अध्यक्ष डॉ रमा श्रीवास्तव ने बताया कि राजधानी लखनऊ के 271 नर्सिंग होम, निजी अस्पताल, 6800 निजी चिकित्सक, 350 डायगनोस्टिक सेंटर, पैथालोजी में शुक्रवार सुबह से कल शनिवार सुबह तक कामकाज बंद है.
Also Read - MBBS Fee Hike: इस राज्य में मेडिकल कॉलेज की बढ़ी फीस, अब प्रतिवर्ष 10 लाख रुपये करना होगा भुगतान, IMA ने की इसकी आलोचना

Also Read - IMA के डॉक्टर्स बोले- वेतन नहीं मिल रहा, क्या सरकार हमें नक्सली बनाना चाहती है?