नई दिल्ली: मुंबई में एक्‍ट्रेस कंगना रनौत का दफ्तर तोड़े जाने के मामले में महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने शुक्रवार को बड़ा बयान दिया है. उन्होंने मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे पर हमला बोलते हुए कहा है कि दाऊद इब्राहीम का घर छोड़ दिया जाता है, लेकिन कंगना का तोड़ दिया जाता है. Also Read - Mumbai : पति को पत्‍नी के अवैध रिश्‍तों का पता चला तो महिला ने प्रेमी संग मिलकर उठाया ये खौफनाक कदम

दिल्ली में बिहार दौरे के लिए रवाना होने से पहले मीडियाकर्मियों से बातचीत के दौरान फडणवीस ने महाराष्ट्र सरकार पर कोरोना से नहीं बल्कि कंगना से लड़ने का आरोप लगाया. महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने कहा, कंगना कोई बड़ा मुद्दा था नहीं, इस मामले को बड़ा आपने किया है. किसने उसका मकान तोड़ा? आपने तोड़ा. दाऊद के भिंडी बाजार वाले घर को तोड़ने के आदेश के बाद भी एफिडेविट दिया गया कि उसे तोड़ने के लिए मैनपावर नहीं है. दाऊद का घर तो तोड़ने जाते नहीं, कंगना के घर-दफ्तर को तोड़ने जाते हो. Also Read - Assam में Congress को झटका, MLA रूपज्योति कुर्मी ने दिया इस्तीफा, बीजेपी में होंगे शामिल

देवेंद्र फडणवीस ने मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को संबोधित करते हुए कहा, जितनी ताकत आपने कंगना के पीछे लगाई है, उससे ज्यादा कोरोना पर ध्यान देने की जरूरत है. महाराष्ट्र सरकार को ऐसा लगता है कि महाराष्ट्र में उनकी लड़ाई कोरोना से नहीं बल्कि कंगना से है. मैं उनको कहना चाहूंगा कि आप जितनी क्षमता कंगना के पीछे लगा रहे उसमें से 50 प्रतिशत भी कोरोना के पीछे लगाएंगे, तो शायद लोगों की जान बच पाएं.

देवेंद्र फडणवीस ने सीबीआई और एनसीबी की जांच को लेकर कहा कि इससे सुशांत सिंह प्रकरण की सच्चाई सामने आएगी. जिस तरह से ड्रग को लेकर खुलासा हुआ है, उससे पूरे मामले की गहराई तक जाने की जरूरत है.