नई दिल्ली: श्रीराम सेना नाम के संगठन का संस्थापक प्रमोद मुतालिक अक्सर अपने बयानों के चलते विवाद में रहता है. अब मुतालिक अपने ताजा बयान के लिए विवाद में है. अपनी साहसी पत्रकारिता के चलते मारी गई पत्रकार गौरी लंकेश की तुलना मुतालिक ने कुत्ते से की है. एक रैली को संबोधित करते हुए मुतालिक ने लंकेश की हत्या पर पीएम मोदी से जवाब मांगने वालों पर निशाना साधा.

क्या कहा मुतालिक ने?
मुतालिक ने रैली में कहा, ”कर्नाटक और महाराष्ट्र में कांग्रेस की सरकार के दौरान दो-दो हत्याएं हुईं लेकिन कोई भी कांग्रेस सरकार की नाकामी के बारे में एक शब्द भी नहीं बोल रहा. इसके बजाय लोग गौरी लंकेश की मृत्यु पर पीएम मोदी से जवाब मांग रहे हैं, बहुत सारे लोग पीएम मोदी से जवाब चाहते हैं, अगर कर्नाटक में किसी कुत्ते की मौत होती है तो उसपर पीएम मोदी क्यों बोलें?”

मुतालिक का इनकार
अपने बयान पर बढ़ते विवाद को देखते हुए बाद में मुतालिक ने कहा कि उनका बयान गौरी लंकेश के लिए नहीं था. मुतालिक का बयान ऐसे समय में आया है जब पुलिस ने गौरी लंकेश हत्याकांड में गिरफ्तार परशुराम वाघमरे नाम के व्यक्ति को गिरफ्तार किया है. पहले ऐसी खबरें थी कि वाघमरे मुतालिक के संगठन का सदस्य है लेकिन बाद में मुतालिक ने खुद को और अपने संगठन को वाघमरे से अलग कर लिया था. मुतालिक ने कहा था, ”श्रीराम सेना और वाघमरे के बीच में कोई संबंध नहीं है, वो ना तो हमारा सदस्य है और ना ही हमारे संगठन से जुड़ा है.”

आर्थिक मदद की मांग
इससे पहले सोशल मीडिया पर ऐसे पोस्टर वायरल हो रहे थे जिसमें वाघमरे के परिवार के लिए आर्थिक सहायता मांगी गई थी. पोस्टर में लिखा था, ”हमारे धर्म को बचाने वाले व्यक्ति की मदद करने का समय आ गया है, उसका परिवार इस समय परेशान है उसे मदद चाहिए.” ऐसा आरोप है कि श्रीराम सेना ही ऐसे पोस्टर को फेसबुक और व्हाट्सएप पर वायरल कर रही थी.

हालांकि मुतालिक ने इस आरोप का भी खंडन किया है और कहा कि हमारे संगठन ने ऐसे किसी भी पोस्टर को जारी नहीं किया है जिसमें वाघमरे को बचाने की अपील की गई हो, वाघमरे के परिवार के लोग और दोस्त ही ये काम कर रहे हैं.” अपनी बेबाक पत्रकारिता के लिए पहचान बनाने वाली पत्रकार गौरी लंकेश की कुछ लोगों ने पिछले साल 5 सितंबर को उनके घर के बाहर हत्या कर दी थी जिसके बाद देशभर में विरोध प्रदर्शन हुए थे.