अंबाला: हरियाणा के गृह मंत्री अनिल विज को चिट्ठी सौंपकर एक महिला ने कबूल किया कि उसने ढाई साल पहले अपने पुलिस अधिकारी एडिशनल एसपी पति की हत्या कर दी थी. महिला ने कहा कि वह चाहती है कि अपराध के लिए उसे फांसी हो.

दिवंगत सहायक पुलिस अधीक्षक की पत्नी सुनील कुमारी ने सोमवार को गृह मंत्री से उनके आवास पर तब मुलाकात की, जब वह लोगों की शिकायतें सुन रहे थे. मुलाकात के दौरान महिला ने उन्हें एक पत्र सौंपा.

पुलिस अधिकारियों ने मंगलवार को बताया कि उस समय पोस्टमार्टम में कुछ भी संदिग्ध नहीं मिला था. पत्र के आधार पर एक मामला दर्ज कर लिया गया है.

अंबाला के पुलिस अधीक्षक (एसपी) अभिषेक जरवाल ने बताया कि दिवंगत सहायक पुलिस अधीक्षक की पत्नी सुनील कुमारी ने सोमवार को गृह मंत्री से उनके आवास पर तब मुलाकात की, जब वह लोगों की शिकायतें सुन रहे थे. मुलाकात के दौरान महिला ने उन्हें एक पत्र सौंपा.

पत्र में कुमारी ने बताया कि कैसे उसने अपने पति की हत्या की. महिला ने दावा किया कि उसका पति नशेड़ी था.

पत्र के मुताबिक, 15 जुलाई 2017 को तत्कालीन एएसपी नशे में अपने घर पहुंचे और अनाप-शनाप बकने लगे. गिरने के बाद उन्हें उल्टी होने लगी तो महिला ने उनके मुंह में कपड़ा ठूंस दिया. इस तरह गले में भोजन का कण शायद फंस गया. बाद में उन्हें अस्पताल ले जाया गया जहां उनकी मौत हो गई.

महिला ने कहा कि उसने घटना के बारे में किसी को नहीं बताया और उसे अपराध बोध हो रहा था. विज ने कहा कि महिला ने उन्हें एक चिट्ठी सौंपी और अपराध के लिए फांसी की सजा की मांग की.

महेश नगर थाने में आईपीसी की धारा 304 (गैर इरादतन हत्या) के तहत महिला के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया. एसपी ने बताया कि बाद में उसे गिरफ्तार कर लिया गया और आगे जांच के लिए महिला थाना के हवाले कर दिया गया.