बंगलुरूः कर्नाटक के करवार शहर में दिल को झकझोरने वाली एक घटना सामने आई है. एक घर से एक वृद्ध दंपति का शव बरामद हुआ है. पति-पत्नी अकेले रहते थे और उनकी कोई संतान नहीं थी. अनुमान लगाया जा रहा है कि दिल का दौरा पड़ने के कारण 10 दिन पहले 55 वर्षीय महिला की मौत हो गई. वहीं, उनका अपाहिज पति इस घटना के बारे में किसी को सूचित तक नहीं कर पाया और करीब 10 दिनों तक भूखे-प्यासे रहने के बाद सोमवार को उन्होंने भी दम तोड़ दिया. Also Read - Video: जुमे की नमाज के लिए मस्जिद में जुटे, मना करने पर भीड़ ने पुलिस टीम पर किया पथराव

इंडियन एक्सप्रेस की एक रिपोर्ट के मुताबिक 60 वर्षीय अपाहिज पति सहायता के लिए किसी को कॉल नहीं कर पाया. भूख-प्यास से तड़पते-तड़पते उन्होंने भी सोमवार की सुबह दम तोड़ दिया. पत्नी गिरिजा के भाई सुब्रमन्या मादिवाला ने बताया कि वह पिछले एक सप्ताह से अपनी बहन से बात करने की कोशिश कर रहे थे, लेकिन कोई जवाब नहीं मिल रहा था. इसके बाद उन्होंने गिरिजा के घर आकर देखा तो सन्न रह गए. सुब्रमन्या मादिवाला होन्नावार जिले में एक दुकानदार हैं. उन्होंने कहा कि वह हर सप्ताह अपनी बहन से बात करते थे. अगर उसे कुछ भी जरूरत होती थी तो वह उन्हें जरूर कॉल करती थी. वह पिछले चार साल से अपने पति आनंद कुल्कर की देखभाल कर रही थी. वह अपाहिज हो गए थे. Also Read - 14 राज्यों में अब तक तबलीगी जमात के 647 लोग कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए: Health Ministry

11 साल की लड़की से सात महीनेे तक दुष्कर्म करते रहे आरोपी, 18 लोगों को पुलिस ने किया गिरफ्तार Also Read - मस्जिद से अनाउंसमेंट होते ही आशा वर्कर पर हुआ हमला, Video में बताया, पुलिस बोली- एक्‍शन लेंगे

महिला के भाई पहुंचे
सुब्रमन्या मादिवाला ने बताया कि बहन की ओर से कॉल नहीं आने की वजह से उन्होंने रविवार को उसके घर आने का फैसला किया. जब वह बहन के घर पहुंचे तो देखा कि दरवाजे अंदर से बंद हैं. जब उन्होंने किसी तरह दरवाजा खोला तो पाया कि उनकी बहन गिरिजा एक कुर्सी पर मृत पड़ी है, जबकि उनका बहनोई बिस्तर पर पड़े हैं. उनकी हालत बेहद खराब थी. उनकी सांसे चल रही थी. हमने उन्हें सरकरी अस्पताल पहुंचाया. लेकिन डॉक्टरों ने बताया कि उनकी भी मौत हो गई है.

उन्होंने कहा कि घर के सभी दरवाजे अंदर से बंद थे और इसके भी संकेत मिले थे कि उन दोनों ने रात का खाना खाया था. ऐसे में लगता है कि उनकी बहन की मौत 10 दिन पहले दिल का दौरा पड़ने से हुई थी. इस दंपति का कोई बच्चा नहीं था. पुलिस ने गिरिजा मामले में अप्राकृतिक मौत का मामला दर्ज किया है. पुलिस ने कहा कि मौत के कारणों को लेकर उन्हें अभी पोस्टमार्टम रिपोर्ट का इंतजार है.