अहमदाबाद: पुलवामा आतंकी हमले के बाद से अब तक 45 जवान शहीद हो चुके हैं. सीमा पर तनाव है. आज दो आतंकियों को भी मार गिराया गया है. इसी बीच गुजरात से बुरी खबर आई है. सेना में जवान एक शख्स ने इसलिए सुसाइड कर ली क्योंकि वह कश्मीर में तैनात अपने पति की सुरक्षा को लेकर चिंतित थी. पुलिस ने ये जानकारी देते हुए बताया कि महिला अपने पति को नौकरी पर नहीं भेजनी चाहती थी. Also Read - पाकिस्तान में मचा सियासी घमासान- आमने सामने आई सेना और पुलिस, छुट्टी पर चले गए अधिकारी

Also Read - LAC पर तनातनी के बीच भारतीय सेना ने चीन को उसका सैनिक लौटाया, लद्दाख बॉर्डर के पास पकड़ा गया था

पुलवामा में 16 घंटे चली मुठभेड़ में जैश के 3 आतंकी ढेर, मेजर शहीद, ब्रिगेडियर, लेफ्टि. कर्नल और DIG घायल Also Read - Hyderabad Rain Updates: हैदराबाद में बारिश से हालात खराब, स्टैंडबाय पर रखी गईं सेना की राहत टीमें

गुजरात के देवभूमि द्वारका जिले में सेना के एक जवान की पत्नी ने आत्महत्या कर ली क्योंकि वह अपने पति की सुरक्षा को लेकर चिंतित थीं. पुलिस ने सोमवार को यह जानकारी दी. उन्होंने बताया कि 22 वर्षीय मीनाक्षी जेठवा अपने पति भूपेंद्र सिंह की सुरक्षा को लेकर पुलवामा हमले के बाद चिंतित थीं. शनिवार को वह खाम्भलिया शहर के अपने घर में फांसी से लटकी हुई मिलीं. महिला के पति जम्मू-कश्मीर के गुलमर्ग में तैनात हैं लेकिन घटना के समय वह घर आए हुए थे.

पुलवामा हमले पर ममता के सवाल, कहा- पता होने पर भी हुआ हमला, क्या युद्ध चाहती है सरकार

एक स्थानीय पुलिस अधिकारी ने बताया कि दो साल पहले ही इन दोनों की शादी हुई थी. मीनाक्षी अपने पति को वापस कश्मीर जाने देना नहीं चाहती थीं. पुलिस ने बताया कि जेठवा ने अपनी पत्नी को बताया था कि वह ड्यूटी के दौरान हिमस्खलन से कैसे बाल-बाल बचे थे. इसकी जानकारी मिलने और पुलवामा हमले को देखते हुए सैनिक की पत्नी ज्यादा परेशान हो गई थीं. पुलिस अधिकारी ने बताया, ‘‘ सैनिक के जाने की तारीख नजदीक आने के साथ ही उसने फांसी लगा ली.’